धरना स्थल में जगह कम पड़ रहा यह अपने आप सीएम बघेल और कांग्रेस की विफलता का प्रमाण नहीं तो और क्या हैं?-विष्णुदेव साय

87

 

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने प्रशासन से धरना स्थल पर कम पड़ती जगह को देखते हुए अतिरिक्त व्यवस्था करने की मांग की हैं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार के खिलाफ नाराजगी का यह आलम हैं कि हर वर्ग प्रदेश सरकार के खिलाफ अपना आक्रोश लोकतांत्रिक तरीके से धरना प्रदर्शन कर अपनी बात रखना चाहता हैं। दुर्भाग्यपूर्ण बात यह हैं कि प्रदेश सरकार के पास समय नहीं हैं और प्रशासन के पास धरना स्थल में स्थान नहीं हैं।
उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में सभी को अपनी बात सरकार के समक्ष रखने का अधिकार हैं और प्रशासन का काम हैं कि लोकतांत्रिक तरीके से जो वर्ग अपनी बात रख रहा हैं उनके लिए पर्याप्त व्यवस्था करें।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि छत्तीसगढ़ का प्रत्येक वर्ग चाहे आंगनबाड़ी कार्यकर्ता हों, दैनिक वेतन भोगी, शिक्षक, रसोइया, दिव्यांग पंचायत शिक्षक, गौसेवक, पुलिस भर्ती के युवा अभ्यर्थी, स्वसहायता समूह, बुनकर वर्ग अनेक वर्ग राज्य सरकार की गलत नीतियों और कांग्रेस की वादखिलाफियों से परेशान हैं। आज छत्तीसगढ़ का प्रत्येक वर्ग अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहा हैं और प्रदेश सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरने मजबूर हैं। उन्होंने प्रशासन से मांग की हैं कि ऐसे प्रत्येक वर्ग जो सरकार तक अपनी बात पहुंचाना चाहते हैं उन्हें स्थान उपलब्ध करवाये।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से सवाल किया कि 3 साल पूरे होने में कुछ रोज बाकी हैं और उनकी सरकार के खिलाफ इतनी नाराजगी की धरना स्थल में जगह कम पड़ रहा यह अपने आप में उनके तीन वर्ष की विफलता का प्रमाण नहीं तो और क्या हैं? उन्होंने कहा धरना स्थल में कम पड़ती जगह की ऐतिहासिक उपलब्धि को छत्तीसगढ़ मॉडल के रूप क्या मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनके विधायको को उत्तर प्रदेश में प्रस्तुत नहीं करना चाहेंगे? झूठ का प्रस्तुतिकरण खूब हुआ क्या सच का प्रस्तुतिकरण करने का साहस सीएम बघेल दिखाएंगे?