धरसींवा महाविद्यालय में हिंदी सप्ताह का समापन

57
IMG 20220920 WA0002
IMG 20220920 WA0002

रायपुर। पण्डित श्यामाचरण शुक्ल महाविद्यालय धरसीवां के हिंदी विभाग और साहित्यिक समिति के संयुक्त तत्वावधान में 14 सितम्बर राष्ट्रीय हिंदी दिवस के उपलक्ष्य में हिंदी सप्ताह के रूप में मनाया गया। जिसमें 14 सितम्बर को मौलिक नारा लेखन 15 सितम्बर को ‘स्वाभिमान की भाषा है हिंदी’ विषय पर निबन्ध लेखन प्रतियोगिता तथा 16 सितम्बर को हिंदी भाषा पर मौलिक कविता लेखन प्रतियोगिता व 19 सितम्बर को ‘ वर्तमान परिदृश्य में हिंदी भाषा’ विषय पर भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें महाविद्यालय के सभी संकायों के विद्यार्थियों ने बढ़चढ़ कर भाग लिया।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

IMG 20220920 WA0004

नारा लेखन प्रतियोगिता में बीएससी के अभय तिवारी ने प्रथम स्थान प्राप्त किया ।द्वितीय स्थान एम ए हिंदी के ओमप्रकाश को मिला तथा तृतीय स्थान पर बीकॉम तृतीय के खिलेश्वरी देवांगन रहीं। निबन्ध लेखन में प्रथम , द्वितीय तथा तृतीय रतन पर क्रमशः अनीसा बुसरा, प्रियंका साहू तथा छाया विश्वकर्मा रहे।

IMG 20220920 WA0003

कविता लेखन में प्रथम स्थान पर एम ए हिंदी के द्वितीय सेमेस्टर की छात्रा मोनिका साहू द्वितीय स्थान पर एम ए हिंदी के ही पुष्प साहू व तृतीय स्थान पर एम एससी की छात्रा अनीसा बुसरा रहीं।
भाषण प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर पुनः प्रियंका साहू द्वितीय स्थान पर अलफिया बुसरा तथा तृतीय स्थान पर अनीसा बुसरा रहीं।

सभी विजेताओं को कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित महाविद्यालय के जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष श्री दुर्गेश वर्मा व महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. शबनूर सिद्दीकी ने प्रमाणपत्र और पुरस्कार देकर प्रोत्साहित किया।
इस अवसर पर वर्मा जी और साथ ही प्राचार्य ने अपने दैनिक जीवन में हिंदी भाषा का व्यवहार करने पर जोर दिया। कार्यक्रम के संयोजक और हिंदी विभाग के अध्यक्ष डॉ. सी.एल.साहू ने हिंदी का इतिहास बताते हुए उसमें रोजगार की अपार सम्भावनाओं पर विस्तार से पर बात की।

दोपहिया वाहन में घुम घुम कर मोबाईल फोन लूट करने वाले विधि के साथ संघर्षरत दो बालक गिरफ्तार

IMG 20220920 WA0005

कार्यक्रम में निर्णायक के रूप में विज्ञान संकाय के वरिष्ठ प्राध्यापक द्वय के के शर्मा व डॉ . निधि देवांगन के साथ आयोजक मंडल के कल्पना पांडेय ,डॉक्टर स्वाति शर्मा व प्रशांत रथ व अन्नपूर्णा बंजारे व बड़ी संख्या में छात्र छात्राएँ उपस्थित रहे।