Breaking Newsछत्तीसगढ़

रायपुर : मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन के दौरान दिन-रात ड्यूटी दे रहे पुलिस कर्मियों से टेलीफोन पर बात की: बढ़ाया उनका हौसला

उनका हालचाल जाना, कहा आपका योगदान हमेशा याद रखा जायेगा

बघेल ने उन्हें मिल रही सुविधाओं की जानकारी ली और कहा आपके कंधे पर कोरोना को हराने की बड़ी जिम्मेदारी है

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के दौरान दिन-रात कठिन ड्यूटी दे रहे पुलिसकर्मियों से आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने निवास कार्यालय से टेलीफोन पर बातचीत कर उनका हालचाल जाना। उन्होंने पुलिस कर्मियों को हो रही कठिनाइयों और मिल रही सुविधाओं की जानकारी ली और उनसे कहा कि आपके कंधे पर कोरोना को हराने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है।
     बघेल ने पुलिसकर्मियों से कहा कि आपका कार्य बहुत महत्वपूर्ण है। आपके कंधों पर ही कोरोना वायरस के फैलाव से बचाने की जिम्मेदारी है, अगर आपने अपनी जिम्मेदारी का अच्छे से निर्वहन किया, तो फिर हम जरूर कोरोना को हरा पाएंगे। आप सभी बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। याद रखिए इससे महत्वपूर्ण कोई चुनौती नहीं है, आप मानवता की सेवा में पहली पंक्ति में खड़े हैं, आपका योगदान हमेशा याद रखा जाएगा। अपने कर्तव्य के निर्वहन के दौरान आप लोग सोशल डिस्टेंसिंग सहित कोविड-19 से बचाव के सभी उपायों का कड़ाई से पालन करें। 
    मुख्यमंत्री बघेल ने रायपुर के निकट निमोरा में बनाए गए कॉरेन्टीन सेंटर में ड्यूटी दे रहे एसआई युधिष्ठिर धु्रव, बिलासपुर के हेड कांस्टेबल श्री अरविंद सिंह, दुर्ग के सुपेला में डयूटी दे रही महिला आरक्षक श्रीमती यास्मीन खान, दंतेवाड़ा की एसआई श्रीमती सुनीता साहू और बलरामपुर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र में ड्यूटी दे रहे एएसआई पुष्पराज सिंह से बड़ी आत्मीयता से बातचीत की और उनका हौसला बढ़ाया।
     मुख्यमंत्री ने इन पुलिसकर्मियों से पूछा कि आपकी ड्यूटी कहां है, लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों के साथ आप कैसा व्यवहार कर रहे हैं। उन्होंने पुलिसकर्मियों के खाने के इंतजाम के बारे में भी जानकारी ली। बघेल ने इन पुलिसकर्मियों से कहा कि आपकी सेहत हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। कोरोना से लड़ाई में आप प्रथम पंक्ति पर तैनात हैं, अपनी सुरक्षा करते हुए ड्यूटी का निर्वहन करें। उन्होंने यह भी कहा कि ड्यूटी से घर जाने के बाद सर्वप्रथम स्नान करने के बाद ही परिवार वालों से मिले

सुपेला भिलाई में ड्यूटी दे रही महिला आरक्षक यासमीन खान से मुख्यमंत्री ने पूछा कि लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों पर क्या कार्यवाही करते हैं। श्रीमती यास्मीन खान ने बताया कि उन्हें समझाने का प्रयास करते हैं, पूछते हैं यदि कोई जरूरी काम हो तभी आगे जाएं, नहीं तो वापस अपने घर पर जाएं। उन्होंने बताया कि वह घर से ड्यूटी पर आती जाती हैं। बलरामपुर जिले के बसंतपुर थाने में पदस्थ श्री पुष्पराज सिंह धनबाद बॉर्डर पर ड्यूटी दे रहे हैं, उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि बॉर्डर पर तीन टीमें लगी हैं, जिनमें से एक डॉक्टरों की टीम है, एक राजस्व अधिकारियों की टीम और एक वन विभाग के अधिकारियों की टीम है। उन्होंने बताया कि लॉक डाउन का पूरी तरह पालन किया जा रहा है और वे लोग 3 शिफ्टों में ड्यूटी दे रहे हैं।
     बिलासपुर के तारबहार थाने में ड्यूटी दे रहे, हेड कांस्टेबल अरविंद सिंह ने मुख्यमंत्री को बताया कि वहां लॉकडाउन का पूरी तरह पालन किया जा रहा है, यहां पुलिस विभाग के अधिकारियों ने ड्यूटी दे रहे जवानों के लिए चाय-नाश्ता और दोनों टाइम के भोजन की व्यवस्था की है।
    निमोरा के कॉरेन्टीन सेंटर में डयूटी दे रहे एएसआई श्री युधिष्ठिर ध्रुव ने मुख्यमंत्री को बताया कि वह इस सेंटर में रहने वालों से लॉक डाउन का पालन करा रहे हैं, जो बाहर निकलते हैं, उन्हें वापस समझाइश देकर सेंटर में भेजते हैं। उन्होंने बताया कि उनके चाय, नाश्ते और भोजन का अच्छा प्रबंध किया गया है, जिससे वे संतुष्ट हैं। मुख्यमंत्री ने उनसे कहा कि आप सभी बहुत अच्छा काम कर रहे हैं, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और अपने स्वास्थ्य का भी ख्याल रखें। दंतेवाड़ा के कोतवाली थाने में पदस्थ एएसआई श्रीमती सुनीता साहू ने मुख्यमंत्री को बताया कि वह पेट्रोलिंग पार्टी में ड्यूटी दे रही हैं, जगह-जगह बैरिकेट्स लगाए गए हैं। लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों को समझाइश देकर वापस भेज रहे हैं। उन्होंने बताया कि भोजन की यहां अच्छी व्यवस्था है, ड्यूटी दे रहे लोगों के लिए पानी और ग्लूकोस की व्यवस्था भी की गई है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button