छत्तीसगढ़राजनीति

केंद्र सरकार की अनुमति से खुले शराब दुकान को लेकर राजनीति कर रहे भाजपा नेताओं पर कांग्रेस का पलटवार

चिट्ठी लिखने की राजनीति करने वाले भाजपा के नेता कहा छिप गये है मोदी सरकार को लिखे पत्र, करे देशभर में शराब दुकान बंद करने की मांग

रायपुर। मोदी सरकार के द्वारा लाक डाउन 3.0 में शराब पान गुटखा की बिक्री छूट देने पर कांग्रेस ने कहा मोदी सरकार ने देशभर में कोरोना महामारी संकट रोकने खींची गई लॉक डाऊन की लक्ष्मण रेखा को तोड़ने का काम किया है।प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने केंद्र सरकार की अनुमति से छत्तीसगढ़ में शराब दुकान खुलने पर बयानबाजी की राजनीति कर रहे भाजपा नेताओं पर तंज कसते हुये, पूछा कहां छुपे है चिट्ठी चिट्ठी खेलने वाले भाजपा के नेता ? मोदी सरकार से मजदूरों के घर वापसी के स्पेशल ट्रेन चलाने के लिए चिट्ठी नहीं लिख पाए कम कम से देशभर में लॉक डाऊन के दौरान शराब बेचने दी गई अनुमति वापस लेने की करे मांग?मोदी सरकार को चिट्ठी लिखने क्या केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह,राज्यसभा सदस्य सरोज पांडे रामविचार नेताम सांसद सुनील सोनी,सहित भाजपा के 9 सांसदों की पेन की स्याही सुख गई है ?या कागज की दस्ती खत्म हो गई है? कि मोदी शाह को पत्र लिखने में हाथ कांप रही है?सांस फूल रही है?कि पत्र लिखने से आंखों के सामने कुर्सी छीनने का धुंधला तस्वीर दिख रहा है?
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार ने लॉक डाउन 3.0 के दौरान देशभर में शराब पान गुटखा बेचने की अनुमति प्रदान कर कोरोना महामारी रोकने खींची गई लॉक डाऊन की लक्ष्मण रेखा को तोड़ने का काम किया है। भाजपाशासित राज्यों में लॉक डाउन के दौरान खुली शराब दुकानों में भारी भीड़ एवं बेतहाशा शराब की बिक्री की सूचना समाचार पत्रों के माध्यम से मिल रही है।उत्तर प्रदेश मध्य प्रदेश सहित भाजपाशासित प्रदेश में एक दिन में 100 से लेकर 300 करोड़ की शराब की बिक्री हुई है।मध्यप्रदेश में तो शराब के ठेकेदारों ने कोरोना वायरस के खतरा के कारण शराब दुकान खोलने से इनकार कर दिया लेकिन शराब की कमीशनखोरी और शराबलॉबी के दबाव में मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने दबाव डालकर शराब ठेका खोलने मजबूर किया। उत्तर प्रदेश में शराब दुकान खोलने को उच्चअधिकारी द्वारा मानव जीवन के लिए खतर बताये जाने पर योगी सरकार ने दबाव डालकर उच्चअधिकारी से माफी मंगवाया सोशल मीडिया में उसके पोस्ट को हटावाया। इससे स्पष्ट हो जाता है केंद्र की मोदी सरकार ने भाजपा शासित राज्यों में शराब से राजस्व प्राप्त करने लॉकडाउन 3.0के दौरान शराब बेचने की अनुमति प्रदान किया हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने स्पष्ट कर दिया है शराबबंदी नोटबंदी की तरह नहीं होगी पुख्ता और मजबूत नीति के साथ राज्य में शराबबंदी होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button