छत्तीसगढ़समाचार

महापौर एजाज ढेबर की पहल पर मुख्य सचिव आरपी मंडल ने अधिकारियों सहित ऐतिहासिक बूढातालाब को जलकुुंभी से मुक्त करवाने का महाभियान प्रत्यक्ष देखा एवं जलकुंभी की पूर्ण सफाई करवाकर योजना बनाकर व्यवस्थित रूप से बूढातालाब को राजधानी का सबसे सुन्दर स्थल बनाकर विकसित करने दिये निर्देश


4 पोकलेन मषीनों, 35 विषेषज्ञ मछुआरों, 85 सफाई मित्रों की सहायता से लगभग 50 डम्पर जलकुंभी 2 दिनों में तालाब से निकालकर परिवहन की गई, महापौर ने लगातार दूसरे दिन पार्षदों सहित किया सफाई श्रमदान 0

रायपुर – राजधानी शहर रायपुर के प्रथम नागरिक महापौर ढेबर की शहर हित में सकारात्मक पहल पर आज छत्तीसगढ राज्य के मुख्य सचिव आरपी मंडल ने नगरीय प्रषासन एवं विकास विभाग की सचिव सुश्री अलरमेलमंगई डी, रायपुर कलेक्टर डाॅ. एस. भारतीदासन, सूडा के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी सौमिल रंजन चैबे, निगम आयुक्त सौरभ कुमार, निगम एमआईसी सदस्य सुरेष चन्नावार, पार्षद मन्नू विजेता यादव, पूर्व पार्षद मनोज कंदोई, इंद्रजीत गहलोत, अपर आयुक्त पुलक भट्टाचार्य, रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के महाप्रबंधक एस.के. सुन्दरानी, निगम स्वास्थ्य अधिकारी श्री एके हलदार, जोन 7 कमिष्नर विनोद पाण्डेय सहित संबंधित निगम अधिकारियों की उपस्थिति में राजधानी शहर के 14 वीं सदी के ऐतिहासिक बूढातालाब स्वामी विवेकानंद सरोवर में विगत दिवस से नगर निगम द्वारा तालाब को जलकुंभी से शत प्रतिषत मुक्त करवाने प्रारंभ किये गये महाभियान का प्रत्यक्ष अवलोकन किया।
मुख्य सचिव मंडल ने संबंधित अधिकारियों को स्थल पर निरीक्षण के दौरान ऐतिहासिक बूढातालाब को पूरी तरह जलकुंभी एवं सिल्ट से प्राथमिकता के साथ निरंतर अभियान चलाकर समाज हित में पर्यावरण संरक्षण हेतु मुक्त करने की कार्यवाही योजना के तहत सर्वप्रथम करना सुनिष्चित करने के निर्देष दिये। मुख्य सचिव ने सफाई कार्य शीघ्र पूर्ण करके व्यवस्थित रूप से योजना तैयार कर ऐतिहासिक बूढातालाब को राजधानी रायपुर के सबसे सुन्दर स्थल के रूप में नगर निगम रायपुर एवं रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के माध्यम से विकसित करवाना प्राथमिकता बनाकर समय सीमा तय करके सुनिष्चित करवाने के निर्देष अधिकारियों को दिये।
महापौर ढेबर ने निरीक्षण के दौरान निगम अधिकारियों को ऐतिहासिक बूढातालाब को जलकुंभी एवं सिल्ट से पूरी तरह मुक्त करवाने का कार्य हर हाल में 25 मई 2020 तक शत प्रतिषत रूप से निरंतर अभियान चलाकर समाज हित में पर्यावरण संरक्षण हेतु सुनिष्चित करवाने के निर्देष दिये। इसके बाद नगरीय प्रषासन एवं विकास विभाग के दिषा निर्दश के अनुरूप राज्य शासन की पर्यावरण संरक्षण की समाज हितकारी मंषा के अनुसार 14 वीं सदी के ऐतिहासिक बूढातालाब को रायपुर शहर राजधानी का सबसे सुन्दर स्थल बनाकर विकसित करने की योजना एवं समय सीमा तय करके गुणवत्ता के साथ विकास कार्य प्रस्ताव बनाकर स्वीकृति लेकर शहर हित में करवाने का कार्य योजना के तहत सुनिष्चित करवाने के निर्दे
आज लगातार दूसरे दिन के महाभियान में महापौर ढेबर ने एमआईसी सदस्य चन्नावार, पार्षद यादव, पूर्व पार्षद कंदोई, गहलोत सहित नागरिको के साथ बूढातालाब में उतरकर जलकुंभी हटाने अभियान में सफाई श्रमदान करके समाज हित में पर्यावरण संरक्षण हेतु लगातार दूसरे दिन सकारात्मक संदेष राजधानी के प्रथम नागरिक के रूप में समस्त राजधानीवासियों को दिया।
आज लगातार दूसरे दिन 35 विषेषज्ञ मछुआरों एवं नगर निगम स्वास्थ्य विभाग मुख्यालय एवं निगम मुख्यालय के महापौर स्वच्छता हेल्प लाईन विषेष गैंग के 85 सफाई मित्रों को मिलाकर कुल 120 श्रमिकों की सहायता से तेज गति से जलकुंभी को बूढातालाब के भीतर से निकालकर उसका परिवहन करवाया गया। आज 2 अतिरिक्त पोकलेन मषीन मंगवाकर 4 पोकलेन मषीनों की सहायता से तेजी के साथ बूढातालाब की सिल्ट सहित जलकुंभी घास को बाहर निकाला गया। विगत दिवस 25 डम्पर एवं आज लगातार दूसरे दिन फिर 25 डम्पर इस प्रकार 2 दिनों में लगभग 50 डम्पर जलकुुंभी सिल्ट घास बूढातालाब के सफाई महाभियान के तहत तालाब से बाहर निकालकर जनहित में जनस्वास्थ्य सुरक्षा हेतु पर्यावरण संरक्षण की दृष्टि से नगर निगम मुख्यालय स्वास्थ्य विभाग महापौर स्वच्छता हेल्प लाईन एवं निगम जोन 7 स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीमों के श्रमिकों द्वारा परिवहन किया गया है। अभियान शत प्रतिषत जलकुंभी एवं सिल्ट घास की सफाई होते तक निरंतर महाभियान के रूप में जारी रहेगा। महापौर ने इस हेतु कार्य पूर्ण करने के लिये 25 मई की समय सीमा निर्धारित कर दी है। उसके बाद बूढातालाब को राजधानी का सबसे सुन्दर स्थल स्मार्ट सिटी में बनाने योजना बनाकर कार्य करवाया जायेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button