राजधानीसमाचार

पी.पी.किट एवं माॅस्क खरीदी-बिक्री करने का झांसा देकर लाखों रूपये की ठगी करने वाला आरोपी अरूण जैन गिरफ्तार



पी.पी.किट एवं माॅस्क खरीदी-बिक्री करने का झांसा देकर प्रार्थी को बनाया था अपना शिकार।
आरोपी एवं प्रार्थी दोनों है एक -दूसरे से परिचित।
आरोपी ने प्रार्थी से 6,20,000/- की, की है ठगी।
प्रार्थी द्वारा जानकारी प्राप्त करने पर हुआ फर्जीवाड़ा का खुलासा।
आरोपी रकम लेकर प्रार्थी को लगातार कर रहा था गुमराह।
आरोपी ने प्रार्थी को दिल्ली से कम दामों में पी.पी.किट एवं माॅस्क दिलाने का दिया था झांसा।
आरोपी स्वयं ही मयुरा सरिया का पर्चेस मैनेजर राकेश शर्मा बनकर करता था प्रार्थी से बात।
आरोपी कब्जे से घटना में प्रयुक्त मोबाईल, चेक बुक, पासबुक एवं नकली मयूरा सरिया प्रायवेट लिमिटेड का कोरा पर्चेस आर्डर एवं कोटेशन किया गया है जप्त।
आरोपी के विरूद्ध थाना मौदहापारा में अपराध क्रमांक 62/20 धारा 420 भादवि. का अपराध किया गया है पंजीबद्ध।
विवरण – प्रार्थी असीम राठौर ने थाना मौदहापारा में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह राठौर चैक रायपुर में रहता है तथा उसका आगरा मंे होटल है। लाक डाॅउन होने के कारण प्रार्थी आगरा का होटल बंद कर मार्च में रायपुर वापस आ गया था। इसी दौरान प्रार्थी अरूण जैन नामक व्यक्ति से मिला जिसने इंडस्ट्रीज सप्लाई का जानकारी दिया और प्रार्थी से कहा मेरे पास पैसे की कमी है, जिस कारण व्यापार नहीं कर पा रहा हूं। अतः आप इसमें पैसा लगाओ, अच्छा मार्जिन मिलेगा, इस संबंध में मटेरियल कहां से लेना है तथा कहां देना है सब की जानकारी मैं आपको दूंगा, इसकी ऐवज में आप मुझे कमाई का 35 प्रतिशत देना तथा बहुत से इंडस्ट्रीज का पर्चेस मैनेजर से मेरी सेटिंग है इसलिये आर्डर मुझे देते है। प्रार्थी अरूण जैन को विगत 05-06 वर्षो से जानता है वह ए.आर.ट्रेडर्स के नाम से तेलघानी रायपुर में चलाता था तथा उसकी एक फैक्ट्री उरला में होना बताया था। दूसरे दिन अरूण जैन द्वारा प्रार्थी के पास एक सप्लाई आर्डर का काम लाया गया और प्रार्थी पर दबाव बनाया कि मेरी फार्म में आप काम कर लो अच्छा मार्जिन मिलेगा परंतु प्रार्थी उसे मना कर दिया कि और बोला मैं स्वयं अपना फर्म बनाके ही कोई काम करूंगा। तब उस दिन अरूण जैन न्यू फार्म ओपन करने की जानकारी एवं प्रक्रिया शुरू कर लक्ष्मी ट्रेडर्स के नाम से प्रार्थी केे लिये न्यू फार्म का गठन करवाया और एक नया पर्चेस आर्डर मयुरा सरिया प्रा.लि.अम्बिकापुर के आने की जानकारी दी जिसमंे पी.पी.किट एवं माॅस्क क्रय-विक्रय करने संबंधी बात बताया। उसने कहा कि ये माल दिल्ली में आस्कर इन्टरप्राइजेस के रंजित फुगलिया से 6,19,500रू. में खरीदेंगे और मयूरा प्राइवेट लिमिटेड अम्बिकापुर को 7,56,000रू. में बेचेगें जिसका पेमेंट आपके खाता में दो तीन दिन में आ जायेगा। प्रार्थी द्वारा और डिटेल में जानकारी मांगने पर अरूण जैन ने फर्म के लिये बनाई गयी ईमेल आईडी (स्।ग्डप्.ज्त्।क्म्त्ै9993599000/ळड।प्स्.ब्व्ड) पर मयुरा सरिया अम्बिकापुर का पर्चेस आर्डर एवं आस्कर इंटरप्राइजेस का कोटेशन मंगवाया। जिसको प्रार्थी वेरीफिकेशन के लिये अरूण जैन से नंबर मांगा। तब उसने मयुरा सरिया का पर्चेस मैनेजर राकेश शर्मा का मो.नं. 9009825057 एवं आस्कर इन्टरप्राइजेस से रंजित फुगालिया का नंबर 9040233738, 9338580122 प्रार्थी कोे दिया। फिर प्रार्थी ने दोनों को काल किया इसके बाद अरूण जैन द्वारा प्रार्थी के साथ बैंक जाकर दिनांक 06.06.2020 को प्रार्थी के माताजी विजय लक्ष्मी राठौर के इंडियन बैंक रामसागरपारा के खाता क्रं. 509536851 से आस्कर इन्टरप्राईजेस के एक्सिस बैंक चांदनी चैक दिल्ली के खाता क्रं. 919020082182695 में 6,20,000 रू. त्ज्ळै करवाया और प्रार्थी को बताया कि तीन दिन में माल पहुंच जायेगा। फिर प्रार्थी रंजित फुगालिया को रकम पहुंचने का पुष्टि करने के लिये काल किया तो उसने बताया कि रकम पहुंच गया, माल आज निकल जायेगा। टैक्स इनवाइस एवं म्-ॅ।ल् बिल ईमेल पर भेज रहा हूं, प्रार्थी द्वारा चेक करने पर सही पाया गया। परंतु ट्रांसपोर्ट का बिल्टी नहीं भेजी गयी थी जिस पर प्रार्थी अरूण जैन एवं रंजित फुगलिया से बिल्टी की मांग किया तो रंजित फुगलिया ने अगले दिन सुबह तक मिलने की बात कही थी जो आज तक अप्राप्त है। दिनांक 09.06.2020 को अरूण जैन ने प्रार्थी को बताया की माल अम्बिकापुर मयुरा सरिया प्रा.लि. पहुंच गया है। जिसे कन्फर्म करने प्रार्थी राकेश शर्मा से बात की तो उन्होंने कहा आपका माल पहुंच गया है, इसकी जानकारी आपकी ईमेल में भेज दिया हूं। तीन दिन बाद भी मयुरा सरिया प्रा.लि.से पेमेंट नहीं आने से अरूण जैन से कारण पूछा तो उन्होंने पेमेंट आज आयेगा, कल आयेगा कहकर टाल मटोल करता रहा तो कभी फैक्ट्री का मालिक नहीं आ रहा कहकर प्रार्थी को घुमाता रहा। काफी दिन होने के बाद भी पेमेंट नही आने से मयुरा सरिया फैक्ट्री के मालिक के नंबर 7999245615 में काल किया तथा पेमेंट के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि न ही वह इस संबंध में माल सप्लाई का आर्डर किया है और न ही कोई माल प्राप्त किया है। इसलिये मैं आपको किस बात का पेमेंट दूंगा। अरूण जैन, आस्कर इन्टरप्राइजेस एवं राकेश शर्मा जो अपने आप को मयुरा सरिया प्रा.लि. का पर्चेस का मैनेजर बताया था प्रार्थी उनके झांसे में आकर धोखाधडी का शिकार हुआ कि रिपोर्ट पर आरोपियों के विरूद्ध थाना मौदहापारा में अपराध क्रमांक 62/20 धारा 420 भादवि. का अपराध पंजीबद्ध किया गया।
वरिष्ठ अधिकारियों के दिशा निर्देशन में थाना मौदहापारा पुलिस की टीम द्वारा आरोपियों की पतासाजी प्रारंभ किया गया। आरोपियों के छिपने के हर संभावित स्थानों में रेड कार्यवाही करते हुये टीम द्वारा आरोपी अरूण जैन को गिरफ्तार करने में सफलता मिली। आरोपी अरूण जैन ने पूछताछ में बताया कि वह स्वयं ही मयुरा सरिया का पर्चेस मैनेजर राकेश शर्मा बनकर प्रार्थी से बात करता था। आरोपी की निशानदेही पर उसके कब्जे से घटना में प्रयुक्त मोबाईल, चेक बुक, पासबुक एवं नकली मयूरा सरिया प्रायवेट लिमिटेड का कोरा पर्चेस आर्डर एवं कोटेशन जप्त किया गया है। आरोपी को गिरफ्तार कर उसके विरूद्ध अग्रिम कार्यवाही किया गया।
गिरफ्तार आरोपी – अरूण जैन पिता विमलचंद जैन निवासी अवंति विहार तेलीबांधा रायपुर।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button