शक्कर भेजने के नाम पर देश भर में करोड़ों रूपये की ठगी करने वाला शक्कर व्यवसायी अंतर्राज्यीय आरोपी हितेश मधु गिरफ्तार

थाना माना क्षेत्रांतर्गत डूमरतराई स्थित शक्कर व्यवसायी को बनाया था अपना शिकार।

माना थाना | आरोपी शक्कर भेजने के नाम पर प्रार्थी को अपने झांसे में लेकर अलग – अलग किश्तों में कुल 6,91,21,260 रूपये किया था प्राप्त।
 आरोपी है मूलतः गुजरात का निवासी जो सोलापुर (महाराष्ट्र) में रहकर करता है शक्कर का व्यापार।
 आरोपी फरार होकर जा रहा था गुजरात जिसे पकड़ा गया सूरत से।
 आरोपी के विरूद्ध थाना माना में अपराध क्रमांक 32/21 धारा 420 भादवि. के तहत् किया गया है अपराध पंजीबद्ध।
 शक्कर भेजने के नाम पर आरोपी ने रायपुर के अन्य कारोबारियों से भी करोड़ो रूपये प्राप्त कर किया है ठगी, जिस संबंध में प्राप्त हुये है शिकायत पत्र।
 आरोपी के विरूद्ध प्राप्त शिकायत पत्रों में जांच उपरांत पृथक से दर्ज की जाएगी प्रथम सूचना पत्र।
 आरोपी द्वारा महाराष्ट्र, गुजरात एवं मध्य प्रदेश में भी शक्कर व्यवसायियों से की गई है करोड़ों रूपये की ठगी।
 आरोपी है बहुत ही शातिर किस्म का ठग जो शक्कर व्यवसायियों का भरोसा व विश्वास प्राप्त कर अपना शिकार बनाकर करता है रूपयों की ठगी।
विवरण – प्रार्थी आकाश पुगलिया ने थाना माना में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह नेताजी बगीचा के पास गुढ़ियारी रायपुर का निवासी है तथा प्रार्थी का सेवा ट्रेडर्स के नाम से डूमरतराई होल सेल मार्केट में खाद्य सामग्री का व्यवसाय है। मेसर्स हिंगलाज इंटरप्राईजेस के प्रोपराईटर हितेश मधु पिता नटवर लाल मधु श्रद्धा विला अपार्टमेंट 187 इस्ट मंगल वार पेट पोस्ट सोलापुर 413002 महाराष्ट्र के साथ प्रार्थी का शक्कर का व्यवसाय वर्ष 2011-12 से शुरू हुआ तथा वर्ष 2015-16 तक इनका व्यापारिक लेन-देन सुचारू रूप से चला। मेसर्स हिंगलाज इंटर प्राईजेस के प्रार्थी का लेनदेन आर्डर के माल का अग्रिम एडवांस राशि आरटीजीएस के माध्यम से मेसर्स हिंगलाज इंटरप्राईजेस के एचडीएफसी बैंक ब्रांच सोलापुर में भेजी जाती थी तथा रकम मिलने के बाद मेसर्स हिंगलाज इंटरप्राइजेस के द्वारा आर्डर का शक्कर भेजा जाता था। प्रार्थी का मेसर्स हिंगलाज इंटरप्राईजेस से कार्य अच्छे से चलने के कारण प्रार्थी ने दिनांक 26.02.2016 को हिंगलाज के मालिक हितेश मधु से 60,00,000 रू0 का शक्कर का आर्डर देकर पेमेंट मेसर्स हिगलाज इंटरप्राईजेस के खाते में कर दिया। पेंमेंट मिलने के बाद माल न भेज कर मेसर्स हिंगलाज इंटर प्राईजेस ने पेमेंट वापस कर दिया। प्रार्थी द्वारा दिनांक 30.08.2016 को दो आर्डर क्रमशः 3,00,000,00 रू0 एवं 30,00,000 कुल 3,30,00,000 रू0 एवं दिनांक 31.08.2016 को 20,00,000 रू0 का पेमेंट मेसर्स हिंगलाज इंटरप्राईजेस को किया गया। पेमेंट मिलने के बाद भी मेसर्स हिंगलाज इंटरप्राईजेस के द्वारा प्रार्थी के पास शक्कर नहीं भेजा गया माल भेज रहा हूं बोला। पूर्व में भी लेट होने पर पुनः आर्डर कर दिया जाता था। प्रार्थी द्वारा दिनांक 01.09.2016 को 35,00,000 रू एवं दिनांक 03.09.2016 को 40,00,000 रू0 दिनांक 26.09.2016 को 2,65,00,000 रू0 दिनांक 27.09.2016 को 25,00,000 रू0 दिनांक 28.09.2016 को 35,00,000 रू0 का पेमेंट मेसर्स हिंगलाज इंटरप्राईजेस को किया गया तथा माल नहीं भेजने पर प्रार्थी द्वारा हितेश मधु से बात करने पर 10,61,220 रू0 का माल भेजा बाकी माल को भेज रहा हूं बोला। प्रार्थी द्वारा माल नहीं भेज रहे हो तो पेमेंट वापस कर दो बोलने पर पुनः 10,88,680 रू0 का माल पुनः भेजा। प्रार्थी द्वारा पुनः माल भेजने बोलने पर वह लगातार गुमराह करते रहा तथा दिनांक 01.01.2017 को उसके द्वारा पुराने हिसाब का पेमेंट देने बोलने पर प्रार्थी द्वारा 4,25,000 रू0 मेसर्स हिंगलाज इंटर प्राईजेस के खाते में भेजा गया। दिनांक 27.02.2017 को मेसर्स हिंगलाज इंटरप्राईजेस ने 30,00,000 रू0, दिनांक 28.02.2017 को 6,03,840 रू0 प्रार्थी के खाते में आरटीजीएस कर वापस किया। दिनांक 28.02.2017 को प्रार्थी के खाते में मेसर्स हिंगलाज इंटर प्राईजेस ने 15,00,000 रू0 डाला तब हितेश मधु ने किसी दूसरी पार्टी का पेमेंट आपके खाते में आ गया है बोलकर पेमेंट वापस करने बोला गया तब प्रार्थी विश्वास में 15,00,000 रू0 को मेसर्स हिंगलाज इंटर प्राईजेस के खाते में वापस भेज दिया। मेसर्स हिंगलाज इंटरप्राजेस के प्रोपराइटर हितेश मधु द्वारा रूपये लेने के बाद भी माल न भेज कर एवं प्रार्थी द्वारा रूपये वापस मांगने पर आना कानी कर लगातार धोखा देकर कुल 6,91,21,260 रूपये प्राप्त किया तथा हितेश मधु द्वारा प्रार्थी को माल भेज रहा हूं बोलकर लगातार अलग-अलग तिथियों में रूपये प्राप्त कर धोखा दिया गया और आज दिनांक तक न ही माल भेजा गया और न ही प्रार्थी द्वारा भेजे गये कुल 6,91,21,260 रूपये को वापस किया गया। जिस पर आरोपी मेसर्स हिंगलाज इंटरप्राईजेस के संचालक हितेश मधु के विरूद्ध थाना माना में अपराध क्रमांक 32/21 धारा 420 भादवि. का अपराध पंजीबद्ध किया गया।
शक्कर भेजने के नाम पर करोड़ो रूपये प्राप्त कर ठगी करने की घटना को पुलिस उप महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री अजय यादव द्वारा गंभीरता से लेते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्री तारकेश्वर पटेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध श्री अभिषेक माहेश्वरी, नगर पुलिस अधीक्षक माना श्री एल.सी.मोहले, प्रभारी सायबर सेल श्री रमाकांत साहू एवं थाना प्रभारी माना श्री दुर्ग़ेश रावटे को आरोपी की पतासाजी कर गिरफ्तार करने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में सायबर सेल एवं थाना माना की एक संयुक्त टीम का गठन कर आरोपी की पतासाजी प्रारंभ की गई। टीम द्वारा घटना के संबंध में प्रार्थी से विस्तृत पूछताछ करते हुए आरोपी के संबंध में जानकारियां जुटाना प्रारंभ किया गया। टीम द्वारा आरोपी के बैंक खाते जिसमें प्रार्थी द्वारा रूपये स्थानांतरित किये गये थे के संबंध में बैंक से जानकारी प्राप्त करने के साथ ही आरोपी के संबंध में तकनीकी विश्लेषण भी किया गया। आरोपी के संबंध में प्राप्त जानकारी के आधार पर आरोपी की गिरफ्तारी हेतु टीम महाराष्ट्र के सोलापुर रवाना हुई। सोलापुर पहुंचने के बाद टीम के सदस्यों द्वारा आरोपी की पतासाजी की जा रहीं थी इसी दौरान टीम के सदस्यों को जानकारी प्राप्त हुई कि आरोपी हितेश मधु मूलतः गुजरात का रहने वाला है तथा वह भागकर गुजरात जा रहा है। जिस पर टीम द्वारा आरोपी मधु हितेश का पीछा किया गया एवं आरोपी को सूरत के पास पकड़ा गया। टीम के सदस्यों द्वारा आरोपी हितेश मधु से कड़ाई से पूछताछ करने पर उसके द्वारा प्रार्थी से करोड़ों रूपये प्राप्त कर शक्कर नहीं भेजना और न ही रूपये वापस करना स्वीकार करने के साथ ही आरोपी ने बताया कि वह मूलतः गुजरात का रहने वाला है तथा सोलापुर (महाराष्ट्र) में रहकर शक्कर का व्यवसाय करता है। आरोपी को इस बात की जानकारी हो गयी थी कि उसके विरूद्ध रायपुर में अपराध पंजीबद्ध किया गया है इसलिये वह भागकर अपने गृहग्राम गुजरात भाग रहा था। आरोपी शक्कर भेजने के नाम पर रायपुर में अन्य कारोबारियों से भी रूपये लेकर शक्कर की सप्लाई नहीं किया है, जिस संबंध में शिकायत पत्र प्राप्त हुये है। आरोपी के विरूद्ध प्राप्त शिकायत पत्रों में जांच उपरांत पृथक से प्रथम सूचना पत्र दर्ज की जाएगी। आरोपी द्वारा देश के अन्य राज्य महाराष्ट्र, गुजरात एवं मध्य प्रदेश में भी शक्कर व्यवसायियों से करोड़ों रूपये की ठगी की गई है। आरोपी को गिरफ्तार कर थाना माना में उसके विरूद्ध अग्रिम कार्यवाही किया गया।

गिरफ्तार आरोपीः- हितेश मधु पिता नटवर लाल मधु उम्र 38 साल निवासी श्रद्धा विला अपार्टमेंट 187 ईस्ट मंगलवार पेट पोस्ट सोलापुर (महाराष्ट्र।

आरोपी को गिरफ्तार करने में सउनि. राधेलाल साहू थाना माना, सायबर सेल से प्र.आर. सरफराज चिश्ती, प्रमोद बेहरा, दिलीप जांगडे एवं राकेश पाण्डेय की महत्वपूर्ण भूमिका रहीं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button