पार्टी की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक रांची में संपन्न

पार्टी के चुनाव में केरल के प्रोफेसर पी रामचंद्रन राष्ट्रीय अध्यक्ष बने

गोविंदाचार्य की प्रेरणा से बने स्वाभिमान पार्टी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यसमिति का समापन उर्मिला भवन, कोर्ट कंपाउंड, कचहरी चौक, रांची में संपन्न हुआ । 27 और 28 फरवरी 2021 को देशभर के 10 राज्यों से लोगों की उपस्थिति हुई। 26 फरवरी को झारखंड प्रदेश की बैठक संपन्न हुई जिसमें कई जिलों के पदाधिकारी नियुक्त किए गए। पार्टी के प्रवक्ता ने जानकारी दी कि प्रत्येक 3 वर्ष में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव किया जाता है और राष्ट्रीय कार्य समिति का पुनर्गठन होता है। इसी संबंध में इस बार राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक रांची में संपन्न हुई। बैठक का आयोजन भारत भूषण मित्तल ने किया। पार्टी के निवर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मंत्री छत्तीसगढ़ वीरेंद्र पांडे ने पत्रकार वार्ता में बताया कि स्वाभिमान पार्टी प्रकृति केंद्रित विकास की अवधारणा पर काम करती है जिसमें जल जंगल जमीन और जानवर का महत्वपूर्ण स्थान है। स्वाभिमान पार्टी किसानों के आंदोलन का समर्थन करती है।पूंजीवादी मानसिकता और पूंजीवादी नीति के विरोध में लगातार किसानों के संघर्ष में सहयोगी है। देशभर में किसानों के हक और हित की लड़ाई में जहां-जहां संभव हो रहा है वहां वहां स्वाभिमान पार्टी के नेता और कार्यकर्ता किसानों के साथ आंदोलन में सहयोग कर रहे हैं। भयंकर बेरोजगारी की मार झेल रहे देश के युवा आत्महत्या करने की स्थिति में पहुंच रहे हैं। युवाओं को सही मार्गदर्शन और रोजगार ना होने के कारण देश का भविष्य खतरे में है। देश में केवल दो व्यक्ति ही सरकार बन गए हैं। आम जनता की कहीं कोई सुनवाई नहीं है। नव निर्वाचित अध्यक्ष प्रोफ़ेसर पी रामचंद्रन ने कहा कि मैं केरल का रहने वाला हूं। आर एस एस के संपर्क में भी रहा हूं। लेकिन जिस प्रकार से देश में वर्तमान सरकार कार्य कर रही है वह पंडित दीनदयाल उपाध्याय के विचारों और नीतियों के बिल्कुल विरुद्ध है। वर्तमान सरकार महंगाई के विषय में कुछ नहीं कर पा रही है। लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर सत्ता चल रही है। आज देश में केरल से कश्मीर और मुंबई से आसाम तक असंतोष फैल रहा है। सरकारी तिकड़म कर जनादेश को खंडित कर देती हैं। हम सब संपूर्ण देश में व्यवस्था परिवर्तन के पक्षधर हैं। भारत को भारत बनाने के लिए प्रयास कर रहे हैं। स्वाभिमान पार्टी का संगठन देश के लगभग 16 राज्यों में फैल चुका है। लगातार काम बढ़ रहा है और हम असली कांग्रेस और भगवा कांग्रेस चरित्र को धीरे-धीरे जनता के समक्ष लाने का प्रयास कर रहे हैं। कई बड़े कार्यक्रमों के आयोजन की बातें दो दिवसीय कार्यसमिति में निश्चित हुई है। राष्ट्रीय कार्यसमिति के इस बैठक में लगभग 65 लोगों की उपस्थिति हुई। चुनाव सर्वसम्मति से संपन्न हुआ। देश के कई ख्याति प्राप्त विद्वान और साधु संत महात्मा ने भी सम्मेलन में शिरकत की। बैठक में हिमाचल के प्रसिद्ध संत स्वामी राम मोहन दास महाराज, बलदेव राज सूद, नरेंद्र शर्मा पूर्व विधायक छत्तीसगढ़, सतीश कुमार त्रिपाठी, कौशलेंद्र नारायण, मुन्ना अजय महाजन, प्रभात महाराज, पश्चिम बंगाल से बलराम सिंह, रामानंद दास महाराज सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित हुए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button