छत्तीसगढ़समाचार

कोरबा 100 शैय्या जिला चिकित्सालय में वॉयरोलॉजी लैब (आर.टी.पी.सी.आर.) का फीता काटकर राजस्व मंत्री ने किया विधिवत् उद्घाटन

कोरबा  प्रदेश के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कोरबा 100 शैय्या जिला अस्पताल में आज कोरोना संक्रमण का पता लगाने के लिए वॉयरोजॉजी लैब (आर.टी.पी.सी.आर.) जांच केन्द्र का फीता काटकर विधिवत् उद्घाटन किया। इस अवसर पर राजस्व मंत्री ने उम्मीद जताई है कि कोरबा में आर.टी.पी.सी.आर. जांच केन्द्र की सुविधा उपलब्ध हो जाने से अब लिए गए सैम्पल की रिपोर्ट उसी दिन दे पाना संभव हो सकेगा और इसके परिणामस्वरूप कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने में सहायता मिल सकेगी। इस अवसर पर राजस्व मंत्री ने कहा कि कोरबा में आर.टी.पी.सी.आर. जांच की सुविधा पहले नहीं थी और कोरबा से सैम्पल एकत्र कर जांच के लिए अन्य जिलो में भेजा जाता था जहां और अनेक स्थानों से जांच के लिए सैम्पल प्राप्त होते हैं जिसके कारण जांच रिपोर्ट मिलने में विलम्ब होता था। इस बीच ऐसे लोगों का अनेक व्यक्तियों से सम्पर्क होने की संभावना बनी रहती है और संक्रमण का खतरा अधिक बढ़ जाने का अंदेशा बना रहता है। अब चूंकि यह सुविधा कोरबा में ही उपलब्ध हो गई है और जांच रिपोर्ट भी उसी दिन मिल जाने की संभावना होने से संक्रमित पाए जानेवाले मरीजों का व्यवस्थापन समय पर किया जा सकेगा और संक्रमण के प्रसार पर रोक लगाने में सुविधा हो सकेगी।
उल्लेखनीय है कि पूर्व में कोरबा अंचल से कोरोना का पता लगाने के लिए एकत्र किए गए आर.टी.पी.सी.आर. सैम्पल की जांच करने के लिए प्रदेश के अन्य जिलों में स्थापित आर.टी.पी.सी.आर.जांच केन्द्रों पर निर्भर रहने की बाध्यता थी जो अब समाप्त हो जाएगी। कोरबा में ही आर.टी.पी.सी.आर जांच केन्द्र का शुभारंभ होने से क्षेत्र के आम नागरिकों को बहुत बड़ी सहूलियत हो जाएगी और प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के लिए भी ऐसे मरीजों के व्यवस्थापन में सुगमता हो सकेगी। यहां बताना लाजिमी होगा कि कोरबावासियों के लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने की दिशा में जयसिंह अग्रवाल कोरबा का विधायक होने के नाते बहुत गंभीर हैं और उनकी इच्छा हैं कि क्षेत्र के हर आयुवर्ग के लोग स्वस्थ और खुशहाल जीवन व्यतीत करें। इसके लिए सरकार के स्तर पर बेहतर सुविधाएं उलब्ध कराने के लिए उनका प्रयास निरंतर जारी है जिसका परिणाम है कि वर्तमान कोरोना संकटकाल में सीपेट, ई.एस.आई.सी और ट्रॉमा सेंटर आज कोरबा के आम नागरिकों की सेवा में कोविड उपचार के लिए सुलभ हो सके हैं। लेकिन इस दिशा में केवल सरकारी प्रयास तब तक पर्याप्त नहीं होंगे जब तक कि आम नागरिकों में स्वयं और परिवारजनों के स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता नहीं उत्पन्न होगी। यह एक महत्वपूर्ण पहलू है जिससे इनकार नहीं किया जा सकता।
कोरबा जिला अस्पताल में आर.टी.पी.सी.आर जांच केन्द्र के शुभारंभ अवसर पर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव, कोरबा सांसद श्रीमती ज्योत्सना चरणदास महंत, प्रदेश के पूर्व गृह मंत्री व रामपुर विधायक ननकीराम कंवर, कटघोरा विधायक पुरूषोत्तम कंवर, पाली तानाखार विधायक मोहित केरकेट्टा, कोरबा नगर पालिक निगम के महापौर राजकिशोर प्रसाद, कोरबा जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती शिवकला कंवर, प्रदेश के स्वास्थ्य सचिव एवं अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान रायपुर के निदेशक एवं उनकी टीम वर्चुअली उपस्थित रहे जबकि नगर पालिक निगम कोरबा के सभापति श्याम सुंदर सोनी, कोरबा कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल, मुख्य चिकत्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.बी. बोर्डे, कोरबा मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ बड़गईया, सिविल सर्जन डॉ. अरूण कुमार तिवारी एवं जिला अस्पताल के अन्य चिकित्साकर्मी कार्यक्रम स्थल पर उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button