HEALTH TIPSछत्तीसगढ़राजधानीसमाचार

एडिज प्रजाति के मच्छर से फैलता है डेंगू

बचाव के लिए पानी से भरे हुये बर्तनों व टंकियों को ढक कर रखें ऐसे कपड़े पहने जो बदन को पूरी तरह ढके

रायपुर। डेंगू बुखार एक आम वायरस जनित संचारी रोग है। यह मच्छर के काटने से फैलता है।
डेगू बुखार के लक्षण है– अकस्मात तेज सिर दर्द व बुखार का होना, मांसपेशियों तथा जोड़ो में दर्द होना, आखों के पीछे दर्द होना जो कि आखों को घुमाने से बढ़ता है, जी.मिचलाना एवं उल्टी होना और गंभीर मामलों में नाक मुंह मसूड़ांे से खून आना अथवा त्वचा पर चकते उभरना।
डेंगू से बचने के उपाय है– डेंगू फैलाने वाला मच्छर रूके हुये साफ पानी में पनपता है।
जैसे कि कूलर , पानी की टंकी , फ्रिज की ट्रे , फूलदान , नारियल का खोल , टूटे हुये बर्तन एवं टायर इत्यादि। इसके लिए सभी नागरिकों को चाहिए कि वे पानी से भरे हुये बर्तनों व टंकियों आदि को ढक कर रखें। कूलर को सप्ताह में एक दिन आवश्यक रूप से सुखाये । उल्लेखनीय है कि डेंगू का मच्छर दिन के समय काटता है अतः ऐसे कपड़े पहने जो बदन को पूरी तरह ढके । डेंगू के उपचार हेतु कोई खास दवा या वैक्सीन नहीं है। बुखार उतारने के लिए पैरासीटामाल टेबलेट का उपयोग किया जाता हैै। नागरिकों यह भी सलाह दी जाती है कि वे एस्प्रीन या आइबु्रफेन का इस्तमाल अपने आप न करें। डेंगू होने पर डाॅंक्टर की सलाह ले।
डेंगू फैलाने वाला मच्छर एडिज प्रजाति का होता है । इसे टाइगर मच्छर भी कहा जाता है। यह मच्छर दिन के समय काटता है। डेंगू एडिज मच्छर को अपने अंडे देने के लिए बहुत कम पानी की आवश्यकता होती हैं। एडिज मच्छर के अंडे कई दिनों तक बिना पानी के भी रह सकते है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button