क्षेत्रीयछत्तीसगढ़समाचार

 बच्चे की नाल गले में फंसी थी और डिलीवरी का समय भी निकल गया था फिर भी टीमवर्क से मिली बड़ी सफलता

कुम्हारी सीएचसी में पहली सीजेरियन डिलीवरी, सुविधाओं में किया गया अपग्रेड, अब कुम्हारी में भी अब संस्थागत प्रसव को मिलेगा बढ़ावा

दुर्ग। कुम्हारी सीएचसी के लिए आज का दिन काफी महत्वपूर्ण रहा। इस स्वास्थ्य केंद्र में पहली बार सीजेरियन डिलीवरी के माध्यम से किलकारी गूँजी। सीजेरियन डिलीवरी की सुविधा उपलब्ध हो जाने से अब कुम्हारी की गर्भवती माताओं को जिला अस्पताल या सुपेला अस्पताल की ओर रुख नहीं करना पड़ेगा। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा सभी स्वास्थ्य केंद्रों में बुनियादी सुविधाओं को अपग्रेड करने एवं मेडिकल स्टाफ बढ़ाने के निर्देश दिये गये थे। आज कुम्हारी में पहली सीजेरियन डिलीवरी हुई और वो भी बेहद जटिल डिलीवरी। इस मामले में बच्चे की नाल गले में फंसी थी और पोस्ट डेटेड डिलीवरी भी थी। फिर भी मेडिकल स्टाफ ने अपनी कुशलता से इस सीजेरियन डिलीवरी को अंजाम दिया और लक्ष्मी साहू ने पुत्र को जन्म दिया। एसडीएम श्री बृजेश क्षत्रिय ने बताया कि मेडिकल स्टाफ के लिए यह काफी खुशी भरा दिन है। न केवल यह कुम्हारी में पहली सीजेरियन डिलीवरी का मौका था अपितु उन्होंने एक जटिल केस को भी निपटाया। इससे पता चलता है कि सीएचसी में मैटर्नल हेल्थ को लेकर बेहद शानदार इंफ्रास्ट्रक्चर मौजूद है। आपरेशन डाॅ आशा मिश्रा ने किया। इस अवसर पर उनके साथ डाॅ. दिशा ठाकुर एवं निश्चेतना विशेषज्ञ डाॅ. शीतल यादव एवं डाॅ. सुगम सांवत भी मौजूद थी। उल्लेखनीय है कि कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने सामुदायिक केंद्रों में संस्थागत प्रसव की स्थिति को मजबूत करने के निर्देश दिये हैं और इसके लिए आवश्यक सुविधाएं स्वास्थ्य विभाग द्वारा एवं डीएमएफ के माध्यम से उपलब्ध कराई गई है। इसके सुखद परिणाम सामने आ रहे हैं, दस दिनों के भीतर ही संस्थागत प्रसव को लेकर तीन उपलब्धियाँ जिले के खाते में आई हैं। धमधा में एक साथ चार सीजेरियन डिलीवरी हुई थी और इसके साथ ही नसबंदी के आपरेशन भी हुए। पाटन में एक ही दिन तीन डिलीवरी हुई। ब्लाक मुख्यालयों में इस तरह से सीजेरियन डिलीवरी आरंभ होने से और कुशल मेडिकल स्टाफ की उपलब्धता से लोगों को काफी राहत मिली है। आशा के पति राकेश साहू ने बताया कि लक्षण प्रतीत नही होने के कारण उन्होंने स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचने में विलंब कर दिया था। फिर भी देर से आने के बावजूद और इतनी विषम परिस्थिति होने पर भी मेडिकल स्टाफ ने शानदार कार्य किया। बीएमओ धमधा डाॅ. डीपी ठाकुर ने बताया कि यह शानदार सफलता है और आगे भी मातृ शिशु स्वास्थ्य के लिए हम अच्छा कार्य करते रहेंगे। सीएमएचओ डाॅ. गंभीर सिंह ठाकुर ने बताया कि हर स्वास्थ्य केंद्र में संस्थागत प्रसव को लेकर सुविधाएं बढ़ाई जा रही हैं। इसके अच्छे परिणाम आये हैं। कुम्हारी की टीम ने आज बहुत अच्छा काम किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button