छत्तीसगढ़समाचार

बढ़ते महंगाई के विरोध में भारतीय मजदूर संघ छत्तीसगढ़ 15 सितम्बर को प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नाम सौंपेगा ज्ञापन

रायपुर। भारतीय मजदूर संघ छत्तीसगढ़ के प्रदेश महामंत्री नरोत्तम धृतलहरे ने बढ़ते महंगाई के विरोध में कहा कि जिस तरह लगातार पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है। आम आदमी की रोज की जरूरतों की वस्तुएं भी परिवहन लागत बढऩे से महंगी हुई हैं। जिसका सीधा असर आम जनता व रोज कमाने वाले श्रमिकों पर पड़ रहा है। बढ़ते मंहगाई के विरोध में भारतीय मजदूर संघ ने 9 सितंबर 2021 को राष्ट्रव्यापी धरना – प्रदर्शन कर ज्ञापन प्रेषित किया था। इसी तारतम्य में भारतीय मजदूर संघ छत्तीसगढ़ 15 सितंबर को प्रदेश के पूरे जिले में जिला भारतीय मजदूर संघ के नेतृत्व में प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर के माध्यम से ज्ञापन देने का निर्णय लिया गया है इसमें भारतीय मजदूर संघ से सम्बद्ध संघ महासंघ एवं पंजीकृत यूनियन भाग लेंगे।
भारतीय मजदूर संघ की प्रमुख मांगे- दैनिक उपयोग की वस्तुओं जैसे खाद्य तेल , आलु , प्याज व दलहन आदि आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 3 ( 1 ) को वापस ले, पेट्रोल – डीजल को भी एक देश एक टैक्स के तहत GST के अंतर्गत सरकार लाए, सभी उत्पादों पर विक्रय मूल्य के साथ लागत मूल्य भी अंकित हो तभी उपभोक्ताओं को मुनाफा की जानकारी होगी, सरकार यह सुनिश्चित करे कि उपभोक्ताओं को उपयोग के वस्तुओं का लागत मूल्य एवं विक्रय मूल्य जानने का अधिकार हो, सरकार आवश्यक वस्तु अधिनियम में संशोधन कर दैनिक उपयोग की वस्तुओं को अधिनियम के अंतर्गत लाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button