क्षेत्रीयछत्तीसगढ़समाचार

आर्थिक गतिविधियों का केंद्र बना जांजगीर-चांपा जिले का आदर्श गोठान- खोखरा, महिला स्व-सहायता समूहों ने कमाए हजारों रूपए

जांजगीर-चांपा। जांजगीर-चांपा जिले के नवागढ़ विकास खंड के ग्राम खोखरा स्थित आदर्श गौठान आर्थिक गतिविधियों का केंद्र बन गया है। यहां के चार महिला स्व-सहायता समूह सब्जी- भाजी, जैविक खाद निर्माण एवं विक्रय और चटाई पर्स निर्माण कर हजारों रूपए की आय अर्जित कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की ड्रिम प्रोजेक्ट नरवा गरवा घुरवा अऊ बारी योजना का आदर्श गोठान खोखरा में सकारात्मक क्रियान्वयन किया जा रहा है।यहां कलेक्टर श्री जितेन्द्र कुमार शुक्ला के मार्गदर्शन में विभिन्न आर्थिक गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है।  इस गौठान में तीन महिला स्व-सहायता समूह आर्थिक गतिविधियां संचालित कर रहे हैं। खोखरा ग्राम में पशुओं की संख्या 2,136 है। इस गौठान में 01 अगस्त 2021 से 25 अगस्त 2021 तक क्रय गोबर की मात्रा 44.58 क्विंटल है।  20 जुलाई 2020 से 31 जुलाई 2021 तक क्रय गोबर की मात्रा 2,41,672 क्विंटल है। गोबर क्रय के एवज में 4,83,344.00 रूपये का भुगतान किया जा चुका है।

40 प्रतिशत रिकव्हरी के आधार पर संभावित वर्मी कम्पोस्ट उत्पादन 966.69 क्विंटल किया गया है। वास्तविक उत्पादित वर्मी कम्पोस्ट की मात्रा 513.00 क्विंटल है। 102.60 क्विंटल वर्मी कम्पोस्ट का विक्रय किया जा चुका है जिसकी कीमत 1,02,600.00 रूपए है। गौठान समिति को  5,951.00 रूपये का लामा प्राप्त हुआ है।इस गौठान में 4 महिला स्व सहायता समूह संलग्न हैं। इनमें शीतला महिला स्व सहायता समूह जिसकी सदस्य संख्या – 11 है। इस समूह द्वारा मुर्गी पालन, बटेर पालन का कार्य किया जा रहा है। इस समूह द्वारा अब तक  30,000,00 रुपये की आय अर्जित की जा चुकी है। काली महिला स्व सहायता समूह जिनकी सदस्य संख्या 10 है।यह समूह सब्जी उत्पादन का काम करता है। इस समूह ने अब तक  40,000.00 रूपये की आय अर्जित कर लिया है। 12 सदस्यीय श्रीगणेश महिला स्व सहायता समूह  चटाई और पर्स निर्माण के निर्माण का कार्य करता है। इस समूह द्वारा अब तक 38,000.00 रूपये की आय अर्जित की जा चुकी है। इसी प्रकार सागर महिला स्व सहायता समूह  जिसकी सदस्य संख्या 10 है, के द्वारा जैविक खाद उत्पादन का काम किया जा रहा है।इस समूह ने  अब तक 33,550.00 रूपये की आय अर्जित कर लिया है।खोखरा आदर्श गौठान में 01 मुर्गी शेड का निर्माण किया गया है। 32 वर्मी टैंक बनाए गए हैं।इसी प्रकार गौठान में 01मशरूम शेड  निर्माणाधीन है।पशुओं के लिए गौठान में ही चारे की ब्यवस्था सुनिश्चित करने 7.00 एकड़ में चारागाह विकसित किया जा रहा है।02 एकड़ में नेपियर घास लगाया गया  है। 10 केले का पौधे लगाये गये हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button