Breaking Newsछत्तीसगढ़देश-दुनियासमाचार

चेतावनी – मौसम विभाग ने छत्तीसगढ़ समेत इन राज्यों में जारी किया अलर्ट

नई दिल्ली। बंगाल की खाड़ी और राजस्थान में बने निम्न दाब की वजह से इस वक्त देश के मध्य हिस्से में मानसून सक्रिय है। भारत मौसम विभाग (IMD) ने अगले तीन दिनों के लिए उड़ीसा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात और कोंकण के इलाकों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है और कहा है कि वहां भारी से अत्यधिक भारी बारिश हो सकती है। IMD ने ताजा बुलेटिन में कहा है कि सोमवार (13 सितंबर) को उड़ीसा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा और कोंकण के इलाकों में भारी बारिश हो सकती है. इसके अलावा विदर्भ, उत्तराखंड, पूर्वी राजस्थान, मराठवाड़ा, झारखंड और दिल्ली में भी बारिश की संभावना जताई गई है. मौसम विभाग ने कहा है कि इस दौरान तेज हवा चल सकती है, जिसकी गति 45 से 55 किमी प्रति घंटे हो सकती है. बिजली गिरने की भी आशंका जताई गई है। IMD ने कहा है कि 14 सितंबर  को पूर्वी मध्य प्रदेश, विदर्भ, मध्य महाराष्ट्र और गुजरात में भारी बारिश हो सकती है. इसके अलावा उत्तराखंड, पूर्वी राजस्थान, मध्य मध्य प्रदेश अंडमान निकोबार, उड़ीसा, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु में कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है. इस दिन भी तेज हवा चलने और बिजली गिरने का पूर्वानुमान जारी किया गया है।
मौसम विभाग ने 15 सितंबर को उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, गुजरात, मध्य मध्य प्रदेश में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. इनके अलावा उत्तराखंड, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु के कुछ इलाकों में भी भारी बारिश की संभावना जताई है.आईएमडी ने रायगढ़, पुणे, रत्नागिरि, सातारा और कोल्हापुर के लिए ‘ऑरेंज’ अलर्ट जारी किया जबकि मुंबई, ठाणे, वर्धा, पालघर और सिंधुदुर्ग जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है. ऑरेंज अलर्ट स्थानीय अधिकारियों को भारी बारिश के संबंध तैयार रहने के लिए आगाह करता है जबकि येलो अलर्ट भारी बारिश की कम संभावना का सूचक है। इस बीच, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में रविवार को न्यूनतम तापमान 23.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो कि मौसम के औसत तापमान से एक डिग्री सेल्सियस कम है. भारत मौसम विज्ञान विभाग ने यह जानकारी दी. सापेक्ष आर्द्रता सुबह 94 फीसदी दर्ज की गई. मौसम वैज्ञानिक ने दिन में बादल छाए रहने और गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश का अनुमान लगाया है. अधिकतम तापमान करीब 31 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किए जाने की संभावना है. शनिवार को दिल्ली में करीब 95 मिमी बारिश दर्ज की गई थी. दिल्ली में सितंबर में शनिवार शाम तक 383.4 मिमी बारिश दर्ज की गई है, जो इस महीने में 77 वर्षों में सबसे अधिक है।
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार शनिवार को रिकॉर्ड स्तर पर बारिश के बाद वायु गुणवत्ता सूचकांक सुबह आठ बजकर पांच मिनट पर ‘संतोषजनक’ श्रेणी में रहा. उल्लेखनीय है कि 0 से 50 के बीच एक्यूआई को ”अच्छा”, 51 से 100 के बीच ”संतोषजनक”, 101 से 200 के बीच ”मध्यम”, 201 से 300 के बीच ”खराब”, 301 से 400 के बीच ”बहुत खराब” और 401 से 500 ”गंभीर” माना जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button