क्षेत्रीयछत्तीसगढ़समाचार

वनांचल क्षेत्र स्थित शासकीय उमावि दुगली में हिन्दी दिवस पर संगोष्ठी आयोजित

 

नगरी – धमतरी। हिन्दी दिवस के अवसर 14 सितंबर 2021 को वनांचल क्षेत्र स्थित नगरी विकास खण्ड के शासकीय उ.मा.वि.दुगली में विकासखंड शिक्षा अधिकारी श्री सतीश प्रकाश सिंह की उपस्थिति में हिंदी दिवस के अवसर पर संगोष्ठी आयोजित की गई । इस अवसर पर बी.ई.ओ. नगरी श्री सतीश प्रकाश सिंह ने उपस्थित छात्र-छात्राओ, शिक्षको एवं ग्रामवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि हिन्दी को एक सक्षम और समर्थ भाषा बनाने में अलग-अलग क्षेत्रों के लोगों ने उल्लेखनीय भूमिका निभाई है। वैश्विक मंच पर हिन्दी लगातार अपनी मजबूत पहचान बना रही है। भारत देश में हिन्दी भाषा की महत्ता बताते हुये विकासखंड शिक्षा अधिकारी श्री सतीश प्रकाश सिंह ने नगरी विकासखण्ड के समस्त विद्यालय परिवार को राजभाषा हिंदी में संकल्पबद्ध होकर शासकीय कामकाज में हिन्दी का अधिकतम प्रयोग करने के लिए प्रोत्साहित करते हुए कहा की भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने हिन्दी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने के लिए पहल की थी। गांधी जी ने हिंदी को भारत की जनमानस की भाषा भी बताया था | साल 1949 में स्वतन्त्र भारत की राजभाषा के प्रश्न पर 14 सितंबर 1949 को काफी विचार-विमर्श के बाद यह निर्णय लिया गया, जिसे भारतीय संविधान के भाग 17 के अध्याय की धारा 343(1) में बताया गया है कि राष्ट्र की राज भाषा हिन्दी और लिपि देवनागरी होगी, क्योंकि यह निर्णय 14 सितंबर को लिया गया था। इसी वजह से इस दिन को हिन्दी दिवस के रूप में घोषित कर दिया गया। लेकिन जब राजभाषा के रूप में हिंदी को चुना गया, तो गैर हिन्दी भाषी राज्य खासकर दक्षिण भारत के लोगों ने इसका विरोध किया फलस्वरुप अंग्रेजी को भी राजभाषा का दर्जा देना पड़ा। लेकिन आज के समय में हिंदी भाषा लोगों के बीच से कहीं-न-कहीं गायब होती जा रही है और अंग्रेजी ने अपना प्रभुत्व जमा लिया है। यदि हालात यही रहे तो वो दिन दूर नहीं जब हिंदी भाषा हमारे बीच से गायब हो जाएगी। विकासखंड शिक्षा अधिकारी नगरी श्री सतीश प्रकाश सिंह ने आगे कहा कि यदि हमें हिंदी भाषा को संजोए रखना है, तो इसके प्रचार-प्रसार को बढ़ाना होगा , साथ ही शासकीय कामकाज में हिंदी को प्राथमिकता देनी होगी। कार्यक्रम में ग्राम पंचायत दुगली के सरपंच श्रीमति रामकुंवर मांडवी सहित शासकीय उ.मा.वि.दुगली में प्राचार्य श्रीमती प्रभा ठाकुर, संकुल समन्वयक दुगली राजेश ध्रुव, व्याख्याता उ.मा.वि. दुगली ललित सोम, राजेंद्र नेताम, अजय ग्वाल,ईश्वर साहू विद्यालय के समस्त शिक्षक,कर्मचारी एवं छात्र-छात्राएं आदि उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button