खास खबरराजधानीसमाचार

चोलामंडलम कंपनी के अवैध कारोबारी तरीकों के विरुद्ध कंपनी के अधिकारियों और पुलिस की मिलीभगत पर कलेक्टर, एसपी को शिकायत

।  अधिवक्ता एवं सामाजिक कार्यकर्ता सतीश कुमार त्रिपाठी के साथ दीपक चनपुरिया और अन्य लोगों ने प्रातः जिला कलेक्टर से मुलाकात के पश्चात भिलाई के एसपी प्रशांत ठाकुर से मुलाकात की। एसपी से मुलाकात में त्रिपाठी ने चोलामंडलम कंपनी के अधिकारियों की गैर कानूनी कार्यवाही के संबंध में अवगत कराया। हाल ही में सेक्टर 5 भिलाई के निवासी आर पी पाठक की गाड़ी चोलामंडलम के अधिकारियों ने जामुल थाने के पुलिस विभाग के कर्मचारियों की मिलीभगत से जबरन उठवा ली। जबकि पाठक को कभी किसी प्रकार का न तो कोई नोटिस प्राप्त हुआ। न ही किसी प्रकार की कोई मध्यस्थता की बात की गई।त्रिपाठी ने बताया कि एक प्रदेश व्यापी आंदोलन इसी संबंध में चल रहा है इसकी सूचना भी एसपी को दी गई। ज्ञातव्य है कि हाल ही में 2020 जून में छत्तीसगढ़ के डीजीपी अवस्थी ने सभी पुलिस महकमे के अधिकारियों को यह आदेश दिया था कि पुलिस विभाग के लोग कंपनियों की गाड़ियों के जब्ती के मामले में किसी भी प्रकार से संबद्ध नहीं रहेंगे। इसके बावजूद जामुल थाने के कर्मचारियों के द्वारा गैरकानूनी काम में सहभागिता दी गई। अधिवक्ता सतीश त्रिपाठी ने एसपी प्रशांत ठाकुर को इस मामले में तत्काल संज्ञान लेने की बात कही है। साथ ही चोलामंडलम कंपनी के एक अधिकारी देबाशीष दत्ता के नाम पर तत्काल पुलिस एफ आई आर दर्ज करने की मांग की है। दत्ता बहुत बड़ी धनराशि का अवैध रूप से घपला करने के आरोपी है। दीपक चनपुरिया ने इस संबंध में लगभग 200 पन्नों के दस्तावेजों को एसपी ऑफिस में जमा किया।
इसी संबंध में आज रायपुर में वीरेंद्र पांडेय के निवास पर बैठक में शामिल होने के पश्चात डीजीपी अवस्थी से मुलाकात का समय मांगा गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button