CG Heat Wave : छत्तीसगढ़ में गर्मी का कहर, 10 साल का रिकॉर्ड टूटा, 18 जिलों में हीट वेव का ऑरेंज अलर्ट

209
cg heat wave
cg heat wave
CG Heat Wave : छत्तीसगढ़ में गर्मी का कहर, 10 साल का रिकॉर्ड टूटा, 18 जिलों में हीट वेव का ऑरेंज अलर्ट

CG Heat Wave : रायपुर। छत्तीसगढ़ में नौतपा का कहर जारी है। भीषण गर्मी से लोगों का जीना मुश्किल हो गया है। प्रदेश के कई जिलों में तापमान 46 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया है।

यह भी पढ़े –Healthy Diet Tips : भीषण गर्मी में कम हो गई है बच्चों की भूख, तो अपनाएं ये ट्रिक्स, फिर देखें कमाल…

गुरुवार को राजधानी रायपुर में अधिकतम तापमान 46.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो कि पिछले 10 सालों में सबसे ज्यादा है। इसने प्रदेश के इतिहास में नौतपा के दौरान सबसे अधिक तापमान का रिकॉर्ड तोड़ दिया है।

मौसम विभाग ने छत्तीसगढ़ में अगले 24 घंटे के लिए हीट वेव को लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

राज्य के 18 जिलों में हीट वेव की स्थिति बनी रहने की आशंका है। इन जिलों में रायपुर, रायगढ़, राजनांदगांव, सक्ति, बिलाईगढ़, महासमुंद, कोरबा, कोरिया, बेमेतरा, बिलासपुर, बलोदाबाजार, दुर्ग, जांजगीर- चांपा शामिल हैं।

भीषण गर्मी के कारण प्रदेश में कई जगहों पर आगजनी की घटनाएं भी सामने आ रही हैं। वहीं, लू लगने से कई लोगों की मौत की खबरें भी हैं।

राज्य सरकार ने इस भीषण गर्मी से निपटने के लिए सभी संस्थाओं को अलर्ट कर दिया है। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने सभी जिला प्रशासन को फायर फाइटर्स की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

गर्मी से बचाव के लिए लोगों को घर से बाहर निकलने से पहले सनस्क्रीन लगाने, ढीले-ढाले कपड़े पहनने, पर्याप्त मात्रा में पानी पीने और छाते का इस्तेमाल करने की सलाह दी जा रही है।

हीटवेव को लेकर अलर्ट मोड पर साय सरकार

लगभग सप्ताहभर से समूचे छत्तीसगढ़ में भीषण गर्मी पड़ रही है। अनेक स्थानों पर आगजनी और लू की चपेट में आकर मौतों की खबरें सामने आई हैं। ऐसे में अब इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए सरकार अलर्ट मोड पर है। सीएम विष्णुदेव साय ने सभी संस्थाओं को फायर फाइटर की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

साय सरकार ने अधिकारियों को जांच के निर्देश दिए

सीएम ने सोशल मीडिया साइट x पर जानकारी दी कि, अधिकारियों को फायर फाइटर की जांच के निर्देश दिए गए हैं। सीएम ने लिखा है कि, भीषण गर्मी को देखते हुए प्रदेश के सभी शासकीय कार्यालयों, छोटे-बड़े उद्योगों, होटलों, बहुमंजिला इमारतों, मॉल, गेमिंग जोन, अस्थाई प्रदर्शनियों, पेट्रोल पंप आदि का मौका मुआयना कर अग्निशामक यंत्र की सुविधाएं सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं।

आपात स्थिति के लिए तैयारी रखें

सभी संस्था संचालकों से आग्रह है कि, वे अपने प्रतिष्ठानों में अग्निशामक यंत्रों का होना सुनिश्चित करें। समय-समय पर उसका निरीक्षण-परीक्षण भी करें। ताकि आपात स्थिति में हालात को तुरंत नियंत्रित किया जा सके और जनहानि से बचा जा सके।