Migraine : गर्मियों के दौरान आपका माइग्रेन क्यों बढ़ जाता है, माइग्रेन का न लें “पेन”, जानें कारण और उपाय

83
Migraine गर्मियों के दौरान आपका माइग्रेन क्यों बढ़ जाता है, माइग्रेन का न लें “पेन”, जानें कारण और उपा
Migraine गर्मियों के दौरान आपका माइग्रेन क्यों बढ़ जाता है, माइग्रेन का न लें “पेन”, जानें कारण और उपा
Migraine : गर्मियों के दौरान आपका माइग्रेन क्यों बढ़ जाता है, माइग्रेन का न लें “पेन”, जानें कारण और उपाय

Migraine : तापमान में बढ़ोतरी आने की वजह से गर्मी पड़ने लगी है। मौसम में ये बदलाव सेहत के लिए कई तरह से परेशानी वाला हो सकता है। इस मौसम में गर्मी के बढ़ने के साथ ही माइग्रेन भी ट्रिगर कर सकता है। धूप माइग्रेन के लिए एक बहुत ही जाना माना ट्रिगर फैक्टर है। प्रसिद्ध न्यूरोलॉजिस्ट डॉ अभिजीत कुमार के द्वारा जानते हैं इसके कारण और बचने के उपाय –

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Raipur News : अवैध प्लाटिंग, निगम का बुलडोजर देख भाग निकले लोग

गर्मी में क्यों बढ़ता है माइग्रेन?
क्या आपको कभी महसूस हुआ कि गर्मियों के दौरान आपका माइग्रेन अधिक बार या गंभीर होता है? आप अकेले नहीं हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि गर्मी वास्तव में माइग्रेन को खराब कर सकती है। हालाँकि, इसे प्रबंधित करने के लिए आपको बस कुछ बातों का ध्यान रखना होगा। प्रसिद्ध न्यूरो विशेषज्ञ डॉ. अभिजीत कुमार कोहाट के अनुसार, ऐसे लोग जिन्हें माइग्रेन की समस्या है उन्हें गर्मी में काफी परेशानी हो सकती है। इस मौसम की कई कंडीशन ऐसी होती हैं, जो माइग्रेन के जोखिम को बढ़ा सकती है। मेयो क्लिनिक की रिपोर्ट के अनुसार, मौसम में बदलाव करने से माइग्रेन ट्रिगर हो सकता है। इसके अलावा हवा में रूखापन, अधिक गर्मी की वजह से भी माइग्रेन परेशान कर सकता है।

बचने के उपाय
प्रसिद्ध न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. अभिजीत कुमार कोहाट के अनुसार, हमारी लाइफस्टाइल में कई बदलाव की वजह से सिरदर्द की समस्या ज्यादा हो सकती है। शराब का सेवन, काफी का अधिक सेवन, तेज या चमकती रोशनी, तेज गंध व कुछ फूड्स माइग्रेन को बढ़ा सकते हैं। इनसे बचने के लिए , खासतौर पर माइग्रेन से बचाव के लिए कोशिश करते रहना चाहिये। गर्मी से बचकर रहना चाहिए। हर रोज एक्सरसाइज करनी चाहिए। गर्मी के मौसम में सिर अच्छे से कवर करें। पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करे। धूप में जाने से पूर्व हल्का नाश्ता ले। रंगीन चश्मा लगा या टोपी पहन कर ही बाहर निकले।

एक विधायक ऐसा भी : आतिशबाजी के दौरान घायल हुई महिला ने सुनाई आपबीती, स्वस्थ होते ही विधायक विकास उपाध्याय को दिया धन्यवाद
dr. abhijeet kumar kohat
dr. abhijeet kumar kohat

कौन हैं डॉ. अभिजीत कुमार कोहाट?
डॉ. अभिजीत कुमार कोहाट ने एमडी (मेडिसिन) के बाद न्यूरोलॉजी में डीएम प्रतिष्ठित संजय गाँधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस लखनऊ से किया। इसके बाद नेशनल न्यूरोसाइंस इंस्टीट्यूट सिंगापोर में पार्किंसंस डिसीज एंड मूवमेंट डिसऑर्डर से क्लिनिकल फ़ेलोशिप की है। डॉ. कोहाट ने ही मध्य भारत में पहली बार रायपुर में डीप ब्रेन स्टिम्यूलेशन (DBS) की तकनीक लाया जो पार्किंसंस व मूवमेंट डिसऑर्डर पर कारगर है।