किसानों के खाते में इस दिन आएगा सम्मान निधि का पैसा, लेकिन लाखों अन्नदाताओं का नाम सूची से गायब

95
index 15
index 15

आजमगढ़:किसानों को आर्थिक रूप से सबल बनाने के लिए मोदी सरकार उनके खाते में सालाना 6000 रुपए भुगतान करती है। सम्मान निधि की 13वीं किस्त जल्द जारी किया जाएगा। उम्मीद की जा रही है कि किसानों के खाते में 17 फरवरी को पैसे ट्रांसफर किया जाएगा। लेकिन पैसे ट्रांसफर होने से पहले किसानों के लिए एक चिंताजनक खबर सामने आ रही है। खबर है कि पूर्वांचल के आजमगढ़, मिर्जापुर व वाराणसी मंडल के 25.52 प्रतिशत किसानों को सम्मान निधि की रकम नहीं मिली सकेगी।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

 

मिली जानकारी के अनुसार आजमगढ़, मिर्जापुर व वाराणसी जिलों के कुल 34.69 लाख पंजीकृत किसानों में से 8.85 लाख किसानों ने शासन की ओर से तय तिथि बीत जाने के बाद भी ई-केवाईसी नहीं कराई है। सरकार ने किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों के लिए ई-केवाईसी अनिवार्य कर दी है। फरवरी 2022 में इसके लिए निर्देश जारी करते हुए 31 मार्च तक औपचारिकता पूरी करने को कहा गया था। बार-बार तिथि बढ़ाने के बाद ई-केवाईसी कराने की अंतिम तिथि 10 फरवरी निर्धारित की गई। यह तिथि भी बीत गयी है और अबतक 8 लाख 85 हजार 446 लाभार्थी ई-केवाईसी नहीं करा सके हैं। ऐसे में इन्हें पीएम किसान सम्मान निधि की 13वीं किस्त से वंचित होना पड़ सकता है।

 

योजना की शुरुआत 24 फरवरी 2019 को हुई थी। चौथी वर्षगांठ पर 13वीं किस्त जारी होने की उम्मीद थी। देर शाम तक किस्त जारी नहीं हो सकी थी। अब उम्मीद जताई जा रही है कि 27 फरवरी को 13 वीं किस्त जारी होगी। बताया जा रहा है कि चार साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद ही किस्त जारी करेंगे।

देश और समाज के निर्माण में समर्पण के साथ कार्य करे : हरिचंदन

 

पीएम सम्मान निधि लेने वालों में मृतकों के नाम भी शामिल थे। कृषि विभाग के सत्यापन में पूर्वांचल के आजमगढ़, मिर्जापुर व बनारस मंडल के दस जिलों में 86869 मृतक के नाम सामने आने के बाद हड़कंप मच गया था। सत्यापन के बाद इनकी रिकवरी की कार्रवाई शुरू की गयी। विभागीय सूत्रों की मानें तो अधिकांश मृतकों के नाम पर लाभ लेने वालों से रिकवरी हो चुकी है।

 

पीएम सम्मान निधि का लाभ केवल आजमगढ़ मंडल के तीनों जिलों में 17770 आयकर दाता भी ले रहे थे। आंकड़ों के अनुसार सम्मान निधि के रूप में 14. 43 करोड़ रुपये आयकर दाताओं ने 12 किस्तों में ली थी। कृषि विभाग द्वारा सत्यापन कर नोटिस जारी करने के बाद इनमें से 2652 आयकरदाताओं ने दो करोड़ 18 लाख 10 हजार रुपये वापस किए हैं, जो मात्र 15.11 प्रतिशत है। मंडल के आजमगढ़ जिले में आयकरदाता किसानों की संख्या 8332 है। इसके सापेक्ष 996 किसानों ने धनराशि वापस की है। इसी प्रकार मऊ में 3782 किसानों में से 951 तथा बलिया में 5656 में से मात्र 705 किसानों ने पीएम सम्मान निधि की धनराशि वापस की है।

 

जिला पंजीकृत किसान ई-केवासी नहीं कराने वाले
सोनभद्र 2,02,019 42,000
जौनपुर 7,10,000 1,05000
मिर्जापुर 3,40,780 64,000
भदोही 85,000 34,000
चंदौली 2,26,000 50,000
गाजीपुर 4,29,652 1,72,769
आजमगढ़ 7,35,118 1,96,611
बलिया 4,59,332 1,51,996
मऊ 2,81,455 69,070