नवा रायपुर में दक्षिण मध्य एशिया के सबसे बड़े होलसेल कॉरिडोर “कमर्शियल हब” का शिलान्यास प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के कर कमलों से हुआ

316
cg chamber
cg chamber
  • व्यापारियों के जय व्यापार के नारे से गूंज उठा नवा रायपुर

रायपुर। छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के प्रदेश अध्यक्ष अमर पारवानी, महामंत्री अजय भसीन, कोषाध्यक्ष उत्तमचंद गोलछा, कार्यकारी अध्यक्ष राजेन्द्र जग्गी, विक्रम सिंहदेव,राम मंधान, मनमोहन अग्रवाल ने बताया कि आज नया रायपुर में प्रदेश के मुख्यमंत्री  श्री भूपेश बघेल द्वारा दक्षिण मध्य एशिया के सबसे बड़े होलसेल कॉरिडोर “कमर्शियल हब” का शिलान्यास किया गया जहां कैबिनेट मंत्री माननीय मोहम्मद अकबर, कृषि मंत्री रवींद्र चौबे, विधायक धनेंद्र साहू (अभनपुर विधानसभा), परियोजना समन्वयक डॉ. राकेश गुप्ता, आर्किटेक्ट मनीश पिल्लिवार, NRDA चेयरमैन एस एस बजाज, आवास एवं पर्यावरण सचिव महादेव कावरे, मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती किरण कौशल एवं चेंबर प्रदेश अध्यक्ष अमर पारवानी की उपस्थिति में चेंबर पदाधिकारी गण, 90 से अधिक एसोसिएशन सहित हजारों की संख्या में जिले के व्यापारी गण उपस्थित रहे और इस ऐतिहासिक क्षणों के साक्षी बने।
चेंबर प्रदेश अध्यक्ष अमर परवानी ने प्रदेश के 12 लाख व्यापारियों की ओर से माननीय मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि आज प्रदेश के व्यापार जगत के लिए एक अहम दिन है। होलसेल कॉरिडोर “कमर्शियल हब” के रूप में व्यापारियों को एक नई सौगात मिली जो अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर छत्तीसगढ़ प्रदेश को पहचान दिलाएगी।
श्री पारवानी ने आगे कहा कि चेंबर द्वारा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से इस योजना को प्रदेश स्तर पर लागू करने का निवेदन किया गया था जिस पर उन्होंने अपनी स्वीकृति दी थी तथा प्रदेश स्तर पर प्रत्येक जिले में होलसेल कॉरिडोर “कमर्शियल हब” बनाने की कड़ी में यह प्रथम प्रोजेक्ट के रूप में शुरू हुआ जो अगले 50 वर्षों से अधिक समय तक योजना को ध्यान में रख कर तैयार किया गया है। यह होलसेल कोरिडोर प्रदेश एवं अंतरराज्यीय पड़ोसी राज्यों के साथ व्यापार के विकास में अपनी महत्वपूर्ण योगदान देगा तथा प्रदेश के राजस्व में भी वृद्धि होगी। आगे परियोजना की जानकारी देते हुए बताया कि प्रस्तावित होलसेल कॉरिडोर “कमर्शियल हब” में सड़क, बिजली, पानी, अस्पताल, बैंक, वाहन पार्किंग, फूड जोन जैसी तमाम सुविधाएं उपलब्ध होगी। इस परियोजना में थोक व्यवसाय से जुड़ी सभी सुविधाएं एवं भौतिक अधोसंरचना उच्च मानकों के अनुसार प्रदान की जाएगी। होलसेल कॉरिडोर में सैकड़ों गाड़ियां एक साथ खड़ी हो सकेंगी। इसके बनने से रायपुर में यातायात का दबाव कम होगा साथ ही यह स्थान भारतमाला रोड, NH30, एयरपोर्ट, नया रायपुर रेलवे स्टेशन एवं डूमरतराई थोक बाजार के करीब है।
केबिनेट मंत्री मो. अकबर ने प्रदेश के व्यवसाय में “कमर्शियल हब” के आने से व्यापार, व्यवसाय के साथ-साथ सामरिक विकास की बात कही एवं पारवानी जी के विकास शुल्क सहित विकसित भूमि की दर का समर्थन किया।

मुख्यमंत्री ने मंच से अपने उद्बोधन में कहा कि सरकार का प्रथम कार्य होता है कि विकास के लिए प्रदेश में अनुकूल वातावरण तैयार करे, प्रदेश में हमारी सरकार आने के बाद से किसानों के कल्याण के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं एवं योजनाएं लाई गई है। शिक्षा के क्षेत्र में स्वामी आत्मानंद स्कूल के माध्यम से प्रदेश के छात्रों को अंग्रेजी सुलभ की है। स्वास्थ्य एवं संस्कृति के विकास के लिए भी विभिन्न योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। विकास के इसी कदम को आगे बढ़ाते हुए उद्योग के विकास के साथ-साथ व्यापार का भी समुचित विकास हो इसी तारतम्य में प्रशासन और चेंबर ऑफ कॉमर्स के विचार विमर्श के पश्चात एक होलसेल कॉरिडोर की परिकल्पना की गई जो नवा रायपुर में स्थित होगा और दक्षिण पूर्व मध्य एशिया का सबसे बड़ा मार्केट होगा।
मुख्यमंत्री ने मंच से व्यापारियों को कहा कि कोरोना काल में भी व्यापारिक संस्थाओं को बंद करने एवं खोलने हेतु सदैव चेंबर ऑफ कॉमर्स से संवाद कर आवश्यकतानुसार निर्णय लिए गए।

शिलान्यास कार्यक्रम में चेंबर अध्यक्ष अमर पारवानी ने मंच से मुख्यमंत्री से विकसित भूमि की दर कम से कम रखने का निवेदन किया जिसका मंत्री मोहम्मद अकबर  के अनुमोदन पर मुख्यमंत्री ने 540 रुपए प्रति वर्ग फुट की दर की घोषणा की जिस पर वहां उपस्थित व्यापारियों ने हर्ष के साथ इस निर्णय का स्वागत किया। माननीय मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जिस प्रकार किसी भी योजना के आने पर शासन उसे विशेष छूट देता है उसी प्रकार इस परियोजना को विशेष परियोजना के रूप में लेकर इसका विकास किया जाएगा। जिसमें जो भी छूट आएगी उसे शासन वहन करेगी। इस छूट को देने से भी शासन को कोई नुकसान नहीं होगा, क्योंकि व्यापार क बढ़ने से लगातार राजस्व में वृद्धि होगी। माननीय मुख्यमंत्री जी ने कहा कि इस होलसेल कॉरिडोर के आने से आसपास के गांव में रोजगार बढेगा और प्रदेश के व्यापार में वृद्धि होगी।
चेंबर पदाधिकारियों ने विशेष रूप से परियोजना समन्वयक डॉ. राकेश गुप्ता जी का धन्यवाद ज्ञापित किया।

कार्यक्रम में चेंबर अध्यक्ष अमर पारवानी, महामंत्री अजय भसीन, कोषाध्यक्ष उत्तमचंद गोलछा, कार्यकारी अध्यक्ष राजेंद्र जग्गी, विक्रम सिंहदेव, राम मंधान, मनमोहन अग्रवाल, कैट सीजी चेप्टर अध्यक्ष, जितेंद्र दोषी, महामंत्री सुरिंदर सिंह, कोषाध्यक्ष, अजय अग्रवाल, समस्त चेंबर उपाध्यक्ष, चेंबर मंत्री, युवा चेंबर टीम, युवा कैट टीम सहित बड़ी संख्या में 5 हजार से अधिक व्यापारीगण शामिल हुए।