CG Top Tourist Place : ये है छत्तीसगढ़ के मनोरम पर्यटन स्थल, गर्मियों की छुट्टियों में अवश्य करें इन जगहों की सैर

1521
CG Top Tourist Place : ये है छत्तीसगढ़ के मनोरम पर्यटन स्थल, गर्मियों की छुट्टियों में अवश्य करें इन जगहों की सैर
CG Top Tourist Place : गर्मियों की छुट्टियों के लिए आप किसी शानदार जगह की तलाश में हैं? तो छत्तीसगढ़ आपके लिए एकदम सही विकल्प है। CG Top Tourist Place प्राकृतिक सुंदरता, समृद्ध संस्कृति और ऐतिहासिक महत्व से भरपूर यह राज्य पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है।

यहां हम आपके लिए छत्तीसगढ़ के मनोरम पर्यटन स्थलों की सूची प्रस्तुत कर रहे हैं, जहाँ आप अपनी छुट्टियों का आनंद ले सकते हैं: CG Top Tourist Place :
मैनपाट
छत्तीसगढ़ राज्य में स्थित मैनपाट एक अद्भुत पर्यटन स्थल है जो अपनी मनमोहक प्राकृतिक सुंदरता और शांत वातावरण के लिए जाना जाता है। हरी-भरी पहाड़ियों, घने जंगलों, शांत झरनों और रोमांटिक सुबह और शाम के साथ, यह प्रकृति प्रेमियों और हनीमून मनाने वालों के लिए एक आदर्श स्थान है। यहाँ कई झरनों में से, टाइगर प्वाइंट झरना अपनी भव्यता और शांत वातावरण के लिए विशेष रूप से प्रसिद्ध है। मैनपाट को अक्सर “मिनी तिब्बत” और “सरगुजा का शिमला” के रूप में जाना जाता है। यह एक पठार पर स्थित है और जंगलों से घिरा हुआ है। यहाँ अभी भी बहुत कुछ खोजा जाना बाकी है, जिसमें सुंदर पहाड़ी ढलान, घने जंगल, झरने और अनछुई प्राकृतिक सुंदरता शामिल हैं।
चित्रकोट
छत्तीसगढ़ राज्य के बस्तर जिले में स्थित चित्रकोट जलप्रपात, जिसे भारत का मिनी नियाग्रा भी कहा जाता है, अपनी अद्भुत प्राकृतिक सुंदरता और राजसी भव्यता के लिए जाना जाता है। यह भारत का सबसे चौड़ा जलप्रपात होने का गौरव प्राप्त है और पर्यटकों के बीच अत्यंत लोकप्रिय है।
तीरथगढ़ जलप्रपात
छत्तीसगढ़ राज्य के बस्तर जिले में स्थित तीरथगढ़ जलप्रपात, अपनी मनमोहक सुंदरता और प्राकृतिक भव्यता के लिए जाना जाता है। यह जलप्रपात कांगेर नदी से निकलता है और सात स्तरों से नीचे गिरता हुआ एक गहरी घाटी में जाता है। तीरथगढ़ जलप्रपात अपनी तीव्र धाराओं, चट्टानी संरचनाओं और आसपास के हरे-भरे जंगलों के लिए प्रसिद्ध है।
अमृतधारा झरना
छत्तीसगढ़ राज्य के कोरिया जिले में हसदेव नदी पर स्थित यह अद्भुत झरना अपनी प्राकृतिक सुंदरता और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है। झरने का पानी काफी ऊंचाई से नीचे गिरता है, जिससे एक सुंदर धुंध भरा माहौल बन जाता है। यह झरना न केवल प्रकृति प्रेमियों के लिए आकर्षण का केंद्र है, बल्कि श्रद्धालुओं के लिए भी एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल है, जहाँ एक प्राचीन शिव मंदिर भी स्थित है।
भोरमदेव
भोरमदेव मंदिर, या ‘छत्तीसगढ़ का खजुराहो’, नागर शैली में चट्टानी पत्थरों पर उकेरा गया एक प्राचीन हिंदू मंदिर है जो भगवान शिव को समर्पित है। छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले में स्थित, यह मंदिर 7वीं से 11वीं शताब्दी की अवधि में बनाया गया था और पर्वत श्रृंखलाओं के बीच खूबसूरती से स्थित है। कहा जाता है कि इन मंदिरों का निर्माण नाग वंश के राजा रामचन्द्र ने करवाया था। मंदिर में शिव लिंग पर अद्भुत नक्काशी की गई है और इसकी कलात्मक अपील आगंतुकों को आकर्षित करती है। भोरमदेव मंदिर कोणार्क के सूर्य मंदिर और खजुराहो मंदिर से मिलता जुलता है।
अचानकमार टाइगर रिजर्व
अचानकमार टाइगर रिजर्व, छत्तीसगढ़ राज्य में स्थित, प्रकृति प्रेमियों के लिए एक स्वर्ग है। यह विशाल राष्ट्रीय उद्यान बाघों, तेंदुओं, हाथियों, हिरणों और विभिन्न प्रकार के पक्षियों सहित समृद्ध वनस्पतियों और जीवों का घर है। चानकमार टाइगर रिजर्व में जीप सफारी का आनंद लिया जा सकता है। जीप सफारी आपको जंगल की गहराई में ले जाती है, जहां आप बाघों और अन्य जानवरों को उनके प्राकृतिक आवास में देख सकते हैं। हाथी सफारी आपको जंगल को एक अलग नजरिए से देखने का मौका देती है। अचानकमार टाइगर रिजर्व पक्षी देखने वालों के लिए एक स्वर्ग है। यहां विभिन्न प्रकार के पक्षी पाए जाते हैं, जिनमें तोता, मोर, और बगुला शामिल हैं।
बारनवापारा
बारनवापारा उन लोगों के लिए एक आदर्श स्थान है जो शांत वातावरण और प्राकृतिक सुंदरता का आनंद लेना चाहते हैं। यह घना जंगल, शांत झीलें, और ऊंचे पहाड़ों से युक्त है, जो इसे प्रकृति प्रेमियों के लिए एक स्वर्ग बनाता है। आप बारनवापारा में विभिन्न प्रकार के वन्यप्राणियो को देखकर रोमांच का अनुभव कर सकते है.
चपरासी के लिए आये आवेदनों की बाढ़ में बह गए भूपेश सरकार के दावे- ठोकने