धान खरीदी में हुआ फर्जीवाड़ा , 19 किसानों के धान दूसरे के खातों में चढाकर बेचा गया धान निकाली गई राशि.

244

महासमुंद | जिले के पिथौरा ब्लॉक के ग्राम जाडामुडा धान खरीदी केंद्र में एक के बाद एक फर्जीवाड़ा की खुलासे हो रहे हैं. पहले इस धान खरीदी केंद्र में फर्जी रकबा बढाकर धान की खरीदी कर करीब 2 करोड़ का फर्जीवाडा किया गया है. शिकायत के बाद 2 करोड रूपये के फर्जीवाड़ा के आरोप मे बसना थाना मे जाड़ामुड़ा धान खरीदी केंद्र प्रभारी उमेश भोई एवं एक किसान राम प्रसाद के खिलाफ बसना थाना मे एफआईआर किया गया है.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

अब इस धान संग्रहण केंद्र मे 19 किसानों के धान को किसानों को धोखे में रख कर दूसरों के खाता  धान चढ़ाकर 33 लाख 90 हजार रूपए निकाल लिया. जाडामुडा उपार्जन केंद्र प्रभारी उमेश भोई  कम्प्यूटर आपरेटर मनीष प्रधान , मनोज प्रधान फरार हो गये हैं. वही किसानों की शिकायत पर बसना थाने मे आरोपियों के खिलाफ धारा 420 , 409, 34 के तहत मामला दर्ज कर पुलिस आरोपियों की तलाश मे जुट गई है.

आपको बता दें कि मामले का खुलासा तब हुआ जब किसानो के खाते में 15 दिन बीत जाने के बाद भी बेचे गये धान के पैसा जमा नही हुआ. पैसै नहीं मिलने से आक्रोशित किसानों ने अधिकारियों से शिकायत की गई और जांच के बाद पता चला की इन 19 किसानों के धान दुसरे के खातों में चढाकर धान बेच दिया गया है और राशि निकाल ली गई है.

झीरम घाटी हत्या कांड पर एनआईए ने जारी की मोस्ट वांटेड लिस्ट, 19 नक्सलियों का पता बताने के लिए 50 लाख का इनाम घोषित