विधानसभा के बजट सत्र के तीसरा दिन, बिना अनुमति डिवाइडर निर्माण व जल जीवन मिशन का उठा मुद्दा

135

रायपुर | छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र के तीसरे दिन प्रश्नकाल में तेलीबांधा से तेलीबांधा में डिवाइडर निर्माण का मुद्दा उठाते हुए वरिष्ठ भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने डिप्टी CM अरुण साव से सवाल पूछा. उन्होंने लागत, टेंडर और अनुमति को लेकर सवाल किया. इस पर डिप्टी CM अरुण साव ने बताया कि, नगर निगम की अनुमति के बगैर यह निर्माण किया गया है. NHAI से भी अनुमति मिलने की कोई जानकारी नहीं है.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

निर्माण के लिए दो करोड़ रुपए का टेंडर जारी किया गया. इस पर अजय चंद्राकर ने कहा- जादू से सड़क बन गई है. ऐसे कौन लोग हैं जिनके जादू के प्रभाव में सब दिख रहे हैं. 2 करोड़ के टेंडर को 10 टुकड़ों में जारी किया गया. बगैर अनुमति कैसे डिवाइडर का निर्माण कर लिया गया.

वहीं तखतपुर क्षेत्र में जल जीवन मिशन का भी मुद्दा संसद में गूंजा. तखतपुर विधायक धर्मजीत सिंह ने सवाल किया कि, 3 साल में जल जीवन मिशन के तहत क्षेत्र के किन गांवों में काम हुए. कितने काम पूर्ण हुए, कितने अपूर्ण हैं. इस पर वरिष्ठ विधायक धर्मजीत सिंह के सवाल पर मंत्री अरुण साव ने बताया कि, जल जीवन मिशन मोदीजी की महत्वाकांक्षी योजना है.

छत्तीसगढ़ में जल जीवन मिशन में प्रगति नहीं हुई. नई सरकार ने इस मिशन पर गंभीरता से काम शुरू कर दिया है. अरूण साव ने कहा कि, इस मिशन के काम में अब हम देश में 33 वें नंबर से अब 24 वें नंबर पर आ गए हैं. मंत्री ने बताया कि, तखतपुर में जो काम बचे हैं उन्हें भी पूरा कर लिया जाएगा. पूरे प्रदेश में गुणवत्तापूर्ण काम हो यह प्रयास होगा. जल्द से जल्द जल जीवन मिशन का काम पूरा होगा.

छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य, जिसने भूमिहीन कृषि मजदूर परिवारों को प्रतिवर्ष 6 हजार रूपए अनुदान देने लागू की योजना: भूपेश बघेल