पेट्रोल-डीजल के दाम कम होंगे या नहीं, सरकारी कंपनी ने कर दिया खुलासा

211

‘पेट्रोल-डीजल 10 रुपये तक सस्ते हो सकते हैं’, ‘आम चुनावों से पहले आम आदमी को मिलेगी राहत, पेट्रोल-डीजल के दाम होंगे कम’, ‘सरकारी ऑयल कंपनियां पेट्रोल और डीजल के दाम घटाने पर कर रहीं विचार’। इस तरह की हेडलाइन पिछले दिनों मीडिया में खूब तैर रहे थे। सरकारी ऑयल मार्केटिंग कंपनी भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BPCL) के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक जी. कृष्णकुमार ने बताया कि ईंधन उत्पादों की खुदरा कीमतों में कटौती की मीडिया रिपोर्टें अटकलबाजी हैं।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आगामी लोकसभा चुनावों के कारण ओएमसी की ओर से खुदरा ईंधन कीमतों में कटौती की उम्मीद पर उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा, ” हमारे फ्यूल प्रोडक्ट की रिटेल कीमतों में कटौती की खबरें काल्पनिक हैं। वैश्विक स्थिति अनस्टेबल है। इसलिए, मामले की संवेदनशीलता के कारण इस स्तर पर यह टिप्पणी करना मुश्किल होगा कि कीमतें कब और क्या बदली जाएंगी।”

जी. कृष्णकुमार ने बताया कि कंपनी ने दिसंबर तिमाही के लिए कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट में 82% की वृद्धि दर्ज की है। बता दें भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (BPCL) को सितंबर 2023 तिमाही में 8244 करोड़ रुपये का कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट हुआ था।

लाल सागर संकट पर उन्होंने कहा ,” हूती उग्रवादी 19 नवंबर, 2023 से बाब-अल-मंडब स्ट्रेट के जरिए  कॉमर्शियल जहाजों पर हमले कर रहे हैं। इन हमलों ने वैश्विक सप्लाई चेन को कमजोर कर दिया है। बाब-अल-मंडब चोकपॉइंट से रोजना 7 मिलियन बैरल (एमबीपीडी) कच्चा तेल, कंडेनसेट और रिफाइंड ऑयल प्रोडक्ट गुजरते हैं। बीपी और इक्विनोर जैसे दिग्गजों समेत कई प्रमुख शिपिंग कंपनियों ने इस प्राइमरी ईस्ट-वेस्ट ट्रेड रूट से हटने का फैसला किया है। लाल सागर में हूती उग्रवादियों द्वारा शिपिंग जहाजों पर अटैक के चलते भारत में कच्चे तेल के फ्लो पर कोई असर नहीं पड़ा है, लेकिन रूट बदलकर केप ऑफ गुड होप के रास्ते माल भाड़े में वृद्धि हुई है।”

शराब घोटाला मामले में छत्तीसगढ़ के दो व्यापारियों के ठिकानों पर ईडी का छापा