धर्म परिवर्तन मामले में पुलिस ने पांच आरोपियों को किया गिरफ्तार , धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अधिनियम के तहत मामला दर्ज

1526

रायपुर | प्रदेश में धर्मांतरण का मुद्दा एक फिर जोर पकड़ने लगा है. छग में धर्मांतरण का मुद्दा लोकसभा चुनाव में एक बड़ा मुद्दा बन सकता है. यही वजह है कि प्रदेश में धर्मांतरण को लेकर सियासत भी जोरों पर है. बलरामपुर  जिला मुख्यालाय के वार्ड 3 में लोगों को गुमराह कर धन, सामग्री और उनकी बीमारी को ठीक करने व प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन कराया जा रहा था. इस दौरान सूचना मिलने पर हिंदू संगठन के लोगों ने इन्हें रंगों हाथ पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया. मामले में पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार किया है.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

दरअसल पूरा मामला बलरामपुर मुख्यालय के वार्ड नंबर 3 का है. यहां कुछ लोग समूह बना कर आदिवासियों को ईसाई धर्म अपनाने का लालच दे रहे थे. इस दौरान इसकी सूचना हिंदू संगठन के लोगों को लगी जिसके बाद उन्होंने 3 महिला और 2 पुरूष को रंगे हाथ पकड़ा. उसी समय मौके का फायदा उठाकर 2 पुरूष पीछे के दरवाजे से भाग निकले. संगठन दल ने इसकी सूचना पुलिस को दी. जिसके बाद ने धर्म परिवर्तन के गिरोह से 5 लोगों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ मामला दर्ज किया है.

आपको बता दें कि गिरफ्तार हुए लोगों के पास से धर्म परिवर्तन व देश विरोधी पुस्तकें भी बरामद हुई हैं. आरोप है कि ईसाई मिशनरी से जुड़े लोग आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों लोगों को पहले रुपयों का लालच देकर चमत्कार दिखाने के नाम पर बुलाते हैं. और वहां उनका ब्रेनवॉश करने के बाद जबरन धर्मांतरण करा दिया जाता है. और पुलिस ने इस मामले में विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अधिनियम के तहत केस दर्ज कर महिलाएं व पुरुष पर कार्यवाही की जा रही है.