Raigarh News : पत्थर गिरोह का भंडाफोड़, 08 आरापियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 5 चोरियों का खुलासा

81
Raigarh News : पत्थर गिरोह का भंडाफोड़, 08 आरापियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 5 चोरियों का खुलासा

Raigarh News : रायगढ। रायगढ और राज्य के कई जिलों में सुने मकानों की रैकी कर चोरी करने अंतर्राज्यीय ‘‘पत्थर गिरोह” के 06 आरोपियों और उनसे चोरी की जेवरात खरीदी करने वाले 02 आरोपियों को रायगढ़ पुलिस की टीम द्वारा अलिराजपुर मध्यप्रदेश से गिरफ्तार कर रायगढ़ लाया गया है । आरोपियों से डेढ किलो चांदी, 06 मोबाइल और चोरी में प्रयुक्त औजार बरामद किया गया है । आरोपियों ने अपने बयान में रायगढ़ जिले के कृष्णा विहार कोलानी (थाना कोतरारोड़), ग्राम बेलारी, मुरालीपाली में जगह (थाना भूपदेवपुर), सांगीतराई (थाना जूटमिल) में चोरी के अलावा राज्य के अन्य कई जिलों में चोरी की वारदातों को अंजाम देना स्वीकार किये है । गिरोह का मास्टर मांइड आलम सिंह बामनिया और सूर्या उर्फ सुअर मोहनिया हैं, दोनों पुलिस की गिरफ्त में हैं। ‘‘पत्थर गिरोह” के सदस्य घूम-घूम कर पहले घरों की रैकी और फिर घटना को अंजाम देते हैं । इस गैंग में शामिल 16 व्यक्तियों ने चोरी के लिये अलग-अलग 04 गैंग बनाकर रखे हुये थे ।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

CG Top Tourist Place : ये है छत्तीसगढ़ के मनोरम पर्यटन स्थल, गर्मियों की छुट्टियों में अवश्य करें इन जगहों की सैर

माह फरवरी 2024 को थाना कोतरारोड़, जिला रायगढ़ के कृष्णाविहार कालोनी स्थित अंकित अग्रवाल के सुने मकान में 06-07 फरवरी की रात अज्ञात आरोपियों द्वारा दरवाजा का डोर लॉक तोड़कर अंदल अलमारी को तोड़े और सोने-चांदी के जेवरात करीब 1,35,000 रूपये का चोरी कर ले गये थे, इस संबंध में थाना कोतरारोड़ में अज्ञात आरोपी पर अपराध क्रमांक 57/2024 धारा 457, 380 आईपीसी के तहत अपराध कायम किया गया था । इसी दरम्यान शहर में हुई अन्य चोरियों को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक श्री दिव्यांग कुमार पटेल द्वारा माल मुल्जिम की शीघ्र पतासाजी के लिये डीएसपी (साइबर सेल) श्री अभिनव उपाध्याय के नेतृत्व में साइबर सेल और थाना कोतरारोड़ की संयुक्त टीम का गठन किया गया।

माल मुल्जिम की लगातार पतासाजी दौरान डीएसपी अभिनव की टीम द्वारा ‘‘पत्थर गिरोह” के मास्टर माइंड आलम सिंह बामनिया को 07 अप्रैल को जूटमिल इलाके में रैकी करते समय संदिग्ध अवस्था में हिरासत में लिया गया जिससे पूछताछ में उसने कोतरारोड़ व जिले के अन्य क्षेत्रों में अपने गिरोह के सदस्यों के साथ चोरी करना बताया जिसका पुलिस 04 दिन पुलिस रिमांड लेकर विस्तृत पूछताछ कर गिरोह के सदस्यों की जानकारी ली गई । आरोपी से प्राप्त जानकारी अन्य जिलों से साझा किया गया ।

गृह मंत्री  ताम्रध्वज साहू 4 जुलाई को कोरिया जिले की समीक्षा करेंगे

पुलिस महानिरीक्षक बिलासपुर रेंज बिलासपुर डॉ0 संजीव शुक्ला के दिशा-निर्देशन पर गिरोह के अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी और माल मशरूका बरामदगी के लिये के जिला रायगढ़, बलौदा बाजार, दुर्ग की संयुक्त विशेष टीम गठित किया गया । पुलिस अधीक्षक दिव्यांग कुमार पटेल के मार्गदर्शन पर डीएसपी अभिनव उपाध्याय के नेतृत्व में विशेष टीम को अलिराजपुर, धार, झाबुआ (मध्यप्रदेश) के लिये रवाना किया गया । पुलिस टीम द्वारा अलिराजपुर के विभिन्न इलाकों में आरोपियों की सघन पतासाजी कर गिरोह की 02 महिला- पेमली बाई, गम बाई और 02 पुरूष- चाम सिंह बामनिया, जालम मोहनिया को हिरासत में लिया गया जिनसे पूछताछ कर इनसे चोरी की सामाग्री खरीदी करने वाले अलिराजपुर के 02 व्यक्ति-रोहित सोनी, दिलीप सोनी को गिरफ्तार कर कुल 06 आरोपियों का स्थानीय न्यायालय में पेश कर ट्रांजिट रिमांड लेकर रायगढ़ लाया गया। गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ पर इनके एक अन्य साथी सूर्या उर्फ सुअर को पुलिस ने कोतरारोड के किरोड़ीमल क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है । इस गैंग के सदस्यों ने 15 दिसंबर को ग्राम बेलारी (भूपदेवपुर) में तथा ग्राम मुरालीपाली में 17-18 फरवरी की रात दो घरों में चोरी किये हैं तथा 19 फरवरी को जूटमिल के सांगीतराई के मकान में चोरी किये थे । अब तक गिरफ्तार 08 आरोपियों के मेमोरेंडम पर थाना कोतरारोड़ के अप.क्र. 57/24, थाना भूपदेवपुर का अप.क्र .183/23, 22/24 एवं 23/24 तथा थाना जूटमिल के अप.क्र. 86/24 का खुलासा हुआ है । कुल 1.445 किलोग्राम चांदी के आभूषण, खर्च के बाद बचे नकदी रकम कुल 19,670 रूपये, 02 मोबाइल, औजार- 02 स्क्रू पाना, 02 प्लास, 04 पेचकस, 01 हेक्सा ब्लेड, रॉड, कटर, टार्च, कपडे का मास्क जप्त किया गया है ।

भारतीय मजदूर संघ छत्तीसगढ़ के प्रदेशाध्यक्ष शिवकुमार कश्यप एवं अखिल भारतीय मजदूर संघ के वित्त सचिव जगदीश जोशी को श्रद्धांजलि अर्पित की गई

गिरफ्तार आरोपी –
1. आलम सिंह बामनिया पिता ढूढीया बामनिया उम्र 48 साल निवासी ग्राम छडावद नरवाली थाना टांडा जिला धार मध्यप्रदेश (रिमांड बाद आरोपी जेल दाखिल)
2. सूर्या उर्फ सुअर मोहनिया पिता बुधु मोहनिया उम्र 30 साल निवासी ग्राम पोहा थाना उदयगढ़ जिला अलिराजपुर मध्यप्रदेश
3. जालम मोहनिया पिता बुधु मोहनिया उम्र 32 साल निवासी ग्राम पोहा थाना उदयगढ़ जिला अलिराजपुर मध्यप्रदेश
4. चामसिंह बामनिया पिता ढूढीया बामनिया उम्र 30 साल निवासी ग्राम छडावद नरवाली थाना टांडा जिला धार मध्यप्रदेश
5. पेमली बाई पति लाला मुएल उम्र 32 साल निवासी ग्राम पोहा थाना उदयगढ़ जिला अलिराजपुर मध्यप्रदेश
6. गम बाई पति सेकू मुएल उम्र 43 साल ग्राम पोहा थाना उदयगढ़ जिला अलिराजपुर मध्यप्रदेश
चोरी की सम्पत्ति खरीदी करने वाले आरोपी
7. दिलीप सोनी पिता जमक सोनी उम्र 53 साल निवासी बोरी रोड़ पुलिस चौकी पारा थाना सिटी कोतवाली झाबुआ, मध्यप्रदेश
8. रोहित सोनी पिता दिलीप सोनी उम्र 28 साल निवासी बोरी रोड़ पुलिस चौकी पारा थाना सिटी कोतवाली झाबुआ, मध्यप्रदेश

जप्त संपत्ति –
कुल 1.445 किलोग्राम चांदी के आभूषण कीमत करीब 1,10,000 रूपये । खर्च के बाद बचे नकदी रकम कुल 19,670 रूपये, 06 मोबाइल (18,000 रूपये), औजार-02 स्क्रू पाना, 02 प्लास, 04 पेचकस, 01 हेक्सा ब्लेड, रॉड, कटर, टार्च, कपडे का मास्क । जुमला कीमती करीब – 1,48,000 रूपये ।

गिरोह के वारदात का तरीका-
ये अपने थैले में पाना, पेचकस, पत्थर रखे होंते हैं । दिन के समय घूम-घूम कर सुने घरों की रैकी और रात में सुनियोजित तरीके से चोरी को अंजाम देते थे । आरोपी स्थानीय ज्वेलर्स दिलीप सोनी और उसके बेटे रोहित सोनी के पास चोरी का माल बेचते थे । ज्वेलर्स उन जेवरातों को पिघला कर उनसे नये आभूषण क्रय कर दुकान पर बेचता था ।

जीपीएफ के लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिए शिविर 4 से 6 मई तक

प्रकरण के खुलासा में इनकी रही महत्वपूर्ण भूमिका –
डीएसपी साइबर सेल अभिनव उपाध्याय, निरीक्षक राकेश मिश्रा थाना प्रभारी कोतरारोड़, सउनि हेम सागर पटेल, प्रधान आरक्षक करूणेश राय, महिला प्रधान आरक्षक जेनिपा पन्ना (थाना पुसौर), चंद्रेश पांडेय, टिकेश्वर यादव, रवि सिंह तथा सााइबर सेल के प्रधान आरक्षक राजेश पटेल, दुर्गेश सिंह, बृजलाल गुर्जर, रेणु मंडावी, धनंजय कश्यप, प्रशांत पंडा, महेश पंडा, प्रताप बेहरा, विकास प्रधान, नवीन शुक्ला, सुरेश सिदार, विक्रम सिंह, रविन्द्र गुप्ता, जिला दुर्ग के एसआई पारस ठाकुर, बलौदाबाजार जिले के प्रधान आरक्षक अंशुमन पांडे, अमोल कंवर और छसबल आरक्षक सुदर्शन पांडे की अहम भूमिका रही है ।