टाटा मोटर्स का बाजार पूंजीकरण बढ़कर 3.15 लाख करोड़ रुपये के पार

180

मारुति सुजुकी को पछाड़कर टाटा मोटर्स अब सबसे मूल्यवान ऑटो कंपनी बन गई है. टाटा मोटर्स ने 7 साल बाद बाजार पूंजीकरण के मामले में मारुति सुजुकी को पीछे छोड़ दिया है. टाटा मोटर्स का बाजार पूंजीकरण बढ़कर 3.15 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया है. सिर्फ 3.13 लाख करोड़ रुपये बचे हैं. टाटा मोटर्स के शेयर आज यानी बुधवार को 876.45 पर कारोबार कर रहे हैं.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

टाटा मोटर्स के शेयरों ने आज यानी मंगलवार (30 जनवरी) को ऑल टाइम हाई बनाया, जिसके चलते कंपनी को यह मुकाम हासिल हुआ है. कारोबार के दौरान टाटा के शेयरों ने 5 फीसदी से ज्यादा की बढ़त के साथ 885.95 रुपये का स्तर छू लिया. हालांकि, बाजार बंद होने पर कंपनी के शेयर 2.84% की बढ़त के साथ 864.90 रुपये पर बंद हुए. वहीं मारुति सुजुकी के शेयर आज 0.41% गिरकर 9,950 रुपये पर बंद हुए.

इस वजह से टाटा मोटर्स के शेयरों में आई तेजी

कंपनी के शेयरों में यह बढ़त टाटा मोटर्स की तीसरी तिमाही (Q3FY24) के नतीजे 2 फरवरी को घोषित होने से पहले देखी जा रही है. कंपनी के शेयर में यह बढ़त जगुआर लैंड रोवर (JLR) की Q3 में रिकॉर्ड बिक्री और इसके चलते आई है. अपने यात्री वाहनों की कीमतें बढ़ाने का फैसला.

कंपनी के शेयरों ने 1 साल में 90% रिटर्न दिया

पिछले एक महीने में टाटा मोटर्स के शेयर में 10% से ज्यादा का इजाफा हुआ है. पिछले 6 महीनों में कंपनी के शेयरों ने अपने निवेशकों को करीब 35% और एक साल में 90% से ज्यादा का रिटर्न दिया है.

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु देव साय ने मतदाताओं के प्रति आभार जताया कहा जनता के आशीर्वाद से मिलेंगा सकारात्मक परिणाम

यात्री वाहनों की कीमत 0.7% बढ़ी

पिछले हफ्ते टाटा मोटर्स ने घोषणा की थी कि वह 1 फरवरी, 2024 से अपने यात्री वाहनों की कीमतों में 0.7% की बढ़ोतरी करेगी. इस मूल्य वृद्धि में कंपनी के इलेक्ट्रिक वाहन भी शामिल होंगे.

जेएलआर ने तीसरी तिमाही में 1.01 लाख थोक इकाइयां बेचीं

इसके अलावा, टाटा मोटर्स के जगुआर लैंड रोवर डिवीजन ने तीसरी तिमाही (Q3FY24) में 1.01 लाख थोक इकाइयां बेचीं, जो साल-दर-साल 27% की वृद्धि है. यह पिछली 11 तिमाहियों में सबसे अधिक थोक बिक्री का आंकड़ा भी है.

फिलहाल टाटा की कुल बिक्री में इलेक्ट्रिक कारों की हिस्सेदारी 12 से 15% और टर्नओवर के मामले में 17 से 20% है. कंपनी ने वित्तीय वर्ष 2022-23 में 50,000 इलेक्ट्रिक वाहन बेचे हैं और चालू वित्तीय वर्ष में एक लाख बेचने का लक्ष्य है. कंपनी का यह भी अनुमान है कि बैटरी से चलने वाली कारें 2025-26 तक उसकी बिक्री में 25% और 2029-30 तक 50% का योगदान देंगी.