छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद द्वारा कार्यशाला आयोजित

89
छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद एवं इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर के संयुक्त तत्वाधान में एकदिवसीय कार्यशाला कृषि छात्रों में उद्यमिता विकास पर आयोजित किया गया। इसके मुख्य अतिथि श्री एस. एस. बजाज महानिदेशक सी कास्ट एवं विशिष्ट अतिथि डॉ. गिरीश चंदेल कुलपति इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय की गरिमामय उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। कार्यशाला का प्रारंभ दीप प्रज्जवलन कर अतिथियों का स्वागत डॉ. विजय कुमार चौधरी विभागाध्यक्ष, कृषि अर्थशास्त्र के द्वारा किया गया। श्री बजाज ने अपने अध्यक्ष उद्बोधन में छात्रों को उद्यमिता विकास के बहुमूल्य कड़ी कहा एवं कृषि के क्षेत्र में उद्यमिता विकास के अपार संभावना हेतु विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद के विभिन्न कार्यक्रम द्वारा समन्वित विकास व बाजार आधारित नवोन्मेंशी तकनीक पर कार्य करने की प्रेरणा दी । डॉ चंदेल ने छात्रों को कृषि के व्यवसायीकरण एवं बाजार आधारित नवोन्मेषी उत्पादों के प्रबंधन एवं ग्रामीण प्रबंधन के द्वारा राज्य के विकास में सहभागिता बनने हेतु आहवन किया। कार्यशाला के स्वागत उद्बोधन डॉ संजय कुमार जोशी के द्वारा कृषि में उद्यमिता विकास पर प्रकाश डाला एवं इस कार्यशाला का छात्रों पर महत्वपूर्ण प्रभाव एवं विशेषताओं के बारे में बताया ।कार्यशाला के समन्वयक श्री अखिलेश त्रिपाठी वैज्ञानिक डी ने विश्वविद्यालय के साथ-समनवय स्थापित की एवं डॉ प्रवीण कुमार वर्मा के द्वारा समस्त प्रतिभागियों, मुख्य अतिथि, विशिष्ट अतिथि, निर्देशक एवं अधिष्ठाताओं की सहभागिता हेतु धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत किया।
छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद एवं इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर के संयुक्त तत्वाधान में एकदिवसीय कार्यशाला कृषि छात्रों में उद्यमिता विकास पर आयोजित किया गया। इसके मुख्य अतिथि श्री एस. एस. बजाज महानिदेशक सी कास्ट एवं विशिष्ट अतिथि डॉ. गिरीश चंदेल कुलपति इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय की गरिमामय उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। कार्यशाला का प्रारंभ दीप प्रज्जवलन कर अतिथियों का स्वागत डॉ. विजय कुमार चौधरी विभागाध्यक्ष, कृषि अर्थशास्त्र के द्वारा किया गया। श्री बजाज ने अपने अध्यक्ष उद्बोधन में छात्रों को उद्यमिता विकास के बहुमूल्य कड़ी कहा एवं कृषि के क्षेत्र में उद्यमिता विकास के अपार संभावना हेतु विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद के विभिन्न कार्यक्रम द्वारा समन्वित विकास व बाजार आधारित नवोन्मेंशी तकनीक पर कार्य करने की प्रेरणा दी । डॉ चंदेल ने छात्रों को कृषि के व्यवसायीकरण एवं बाजार आधारित नवोन्मेषी उत्पादों के प्रबंधन एवं ग्रामीण प्रबंधन के द्वारा राज्य के विकास में सहभागिता बनने हेतु आहवन किया। कार्यशाला के स्वागत उद्बोधन डॉ संजय कुमार जोशी के द्वारा कृषि में उद्यमिता विकास पर प्रकाश डाला एवं इस कार्यशाला का छात्रों पर महत्वपूर्ण प्रभाव एवं विशेषताओं के बारे में बताया ।कार्यशाला के समन्वयक श्री अखिलेश त्रिपाठी वैज्ञानिक डी ने विश्वविद्यालय के साथ-समनवय स्थापित की एवं डॉ प्रवीण कुमार वर्मा के द्वारा समस्त प्रतिभागियों, मुख्य अतिथि, विशिष्ट अतिथि, निर्देशक एवं अधिष्ठाताओं की सहभागिता हेतु धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत किया।
उल फितर की हार्दिक बधाई

रायपुर, छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद एवं इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर के संयुक्त तत्वाधान में एकदिवसीय कार्यशाला कृषि छात्रों में उद्यमिता विकास पर आयोजित किया गया। इसके मुख्य अतिथि श्री एस. एस. बजाज महानिदेशक सी कास्ट एवं विशिष्ट अतिथि डॉ. गिरीश चंदेल कुलपति इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय की गरिमामय उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। कार्यशाला का प्रारंभ दीप प्रज्जवलन कर अतिथियों का स्वागत डॉ. विजय कुमार चौधरी विभागाध्यक्ष, कृषि अर्थशास्त्र के द्वारा किया गया। श्री बजाज ने अपने अध्यक्ष उद्बोधन में छात्रों को उद्यमिता विकास के बहुमूल्य कड़ी कहा एवं कृषि के क्षेत्र में उद्यमिता विकास के अपार संभावना हेतु विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद के विभिन्न कार्यक्रम द्वारा समन्वित विकास व बाजार आधारित नवोन्मेंशी तकनीक पर कार्य करने की प्रेरणा दी ।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

डॉ चंदेल ने छात्रों को कृषि के व्यवसायीकरण एवं बाजार आधारित नवोन्मेषी उत्पादों के प्रबंधन एवं ग्रामीण प्रबंधन के द्वारा राज्य के विकास में सहभागिता बनने हेतु आहवन किया। कार्यशाला के स्वागत उद्बोधन डॉ संजय कुमार जोशी के द्वारा कृषि में उद्यमिता विकास पर प्रकाश डाला एवं इस कार्यशाला का छात्रों पर महत्वपूर्ण प्रभाव एवं विशेषताओं के बारे में बताया ।कार्यशाला के समन्वयक श्री अखिलेश त्रिपाठी वैज्ञानिक डी ने विश्वविद्यालय के साथ-समनवय स्थापित की एवं डॉ प्रवीण कुमार वर्मा के द्वारा समस्त प्रतिभागियों, मुख्य अतिथि, विशिष्ट अतिथि, निर्देशक एवं अधिष्ठाताओं की सहभागिता हेतु धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत किया।

चौथी बार फाल्गुन पूर्णिमा पर राष्ट्रीय करणी सेना छत्तीसगढ़ द्वारा खारुन गंगा मैया एवं हटकेश्वर महादेव की महाआरती आयोजित - "क्षत्रिय करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे शामिल"