कोयले मामले को लेकर निलंबित IAS रानू साहू की जमानत याचिका खारिज

211

रायपुर. छत्तीसगढ़ में पिछले 2 सालों से चर्चित कोयला घोटाले मामले में आरोपियों की परेशानियां कम होने का नाम नहीं ले रही है। कोल लेवी मामले में लंबे समय से जेल में बंद निलंबित IAS रानू साहू की जमानत याचिका पर हाईकोर्ट में सुनवाई की गई है। जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया है। बतादें कि इससे पहले हाईकोर्ट ने जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था जिस पर आज सुनवाई करते हुए इसे नामंजूर कर दिय है। निलंबित IAS रानू साहू की याचिका को लेकर हाईकोर्ट के जस्टिस नरेंद्र कुमार व्यास की कोर्ट में सुनवाई की गई है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

कोल घोटाले में निलंबित IAS रानू साहू का क्यों आया नाम

बतादें कि कोयला मामले को लेकर साल 2022 में आयकर विभाग ने सबसे पहले रानू साहू के शासकीय निवास, घर और दफ्तर में छापा मारा था। जिसके बाद ईडी ने इस मामले में रानू के घर छापा मारते हुए लंबे समय से पूछताछ के लिए बुला रही है। ईडी ने कथित कोल घोटाले को लेकर रानू साहू पर यह आरोप लगया कि निलंबित IAS रानू साहू के द्वारा कोरबा कलेक्टर रहते हुए कोल लेवी मामले में संलिप्तता पाई गई थी। इसके अलावा इनके ऊपर आय से ज्यादा संपत्ती के आरोप भी लगे थे। जिसके बाद ईडी ने साल 2023 में रानू साहू को गिरफ्तार क पूछताछ करने के बाद कोर्ट में पेश किया था। जहां रानू साहू को कोर्ट ने जुडिसियल रिमांड पर जेल भेज दिया है। रानू साहू वर्तमान में केंद्रीय जेल में बंद है। वहीं इस कार्रवाई के द्वारा राज्य सरकार ने उन्हें सेवा से निलंबित कर दिय है।

जन्मदिन मना कर लौट रहे छात्र से लूट, 3 आरोपी गिरफ्तार

ACB में भी एफआईआर है दर्ज 

छत्तीसगढ़ कोयला घोटा को लेकर ईडी ने ACB में सभी के खिलाफ मामला दर्ज करवा दिया है। कोयले घोटाले को लेकर 35  और अन्य लोगों के ऊपर FIR दर्ज कराई गई है। जिसमें सौम्या चौरसिया, समीर विश्वनोई, रानू साहू, सूर्यकांत तिवारी, निकिल चंद्राकर, सुनील अग्रवाल समेत कई नाम दर्ज है।