वित्त मंत्री ओपी चौधरी का बयान कहा – अनुपूरक बजट, किसानों और इन योजनाओं के लिए प्रावधान.

409
वित्त मंत्री ओपी चौधरी का बयान कहा
वित्त मंत्री ओपी चौधरी का बयान कहा

रायपुर | छत्तीसगढ़ विधानसभा सत्र का दूसरा दिन काफी हंगामेदार रहा. इस दौरान विपक्ष ने सत्ता पक्ष को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ा. इस दौरान वित्त मंत्री ओपी चौधरी ने बयान दिया है. उन्होनें कहा कि लोकतंत्र की ताकत है कि छोटे से गांव से निकलकर आज मैं प्रदेश के सबसे बड़े पंचायत में सबसे बड़ी सदन में लोकतंत्र की इस मंदिर में पहुंचकर अपना पहला अनुपूरक बजट प्रस्तुत किया और पारित हुआ. ये अनुपूरक बजट का 2023 -24 के लिए है. इसका साइज 13487 करोड़ का है.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

इसमें सबसे बड़ा काम है कृषक उन्नति योजना के लिए 12000 करोड़ का प्रदान किया गया है किसान भाइयों के हित के लिए प्रधानमंत्री मोदी की बड़ी महत्वाकांक्षी योजना है. जनमन योजना जिसके अंतर्गत हमारे विशेष रूप से पिछड़ी जनजाति है उनके कनेक्टिविटी के लिए 200 करोड़ का प्रावधान किया गया है. राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका के लिए 195 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है.

आयुष्मान भारत, माता बहनों के विभिन्न प्रकार की समस्याओं के समाधान के लिए सखी सेंटर उसके लिए भी प्रावधान किया गया है. सबसे महत्वपूर्ण 500 वर्षों बाद श्री राम लाल टेंट से निकलकर मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा हुई है. श्री राम छत्तीसगढ़ के भांजे हैं. तो छत्तीसगढ़ के लोगों को सभी चाहते हैं अयोध्या धाम का दर्शन करें हमारे गारंटी के तहत भी यह वादा था संकल्प पत्र का वादा था श्री राम लाल दर्शन के लिए अयोध्या धाम योजना लॉन्च करेंगे.

आज के तृतीय अनुपूरक में श्री राम लाल दर्शन का प्रावधान पारित हो गया है. हम हमारी कमिटमेंट की ओर लगातार आगे बढ़ रहे हैं. ये गारंटी की सरकार है जो कि लोगों के लिए पूर्णत समर्पित है. हमारी गारंटी को लगातार पूरा करने के लिए काम करते रहेंगे.

वहीं विपक्ष के बहिष्कार को लेकर कहा कि लोकतंत्र में चर्चा पर चर्चा को आधिकारिक स्थान मिलना चाहिए. विपक्ष के साथियों को यही कहना चाहूंगा की चर्चा में अधिकतर अधिक भाग ले. प्रश्नकाल के समय एक विषय उठा और चले गए. बाकी में वह नहीं रहे, विपक्ष की दृष्टि से लोकतंत्र की दृष्टि से छत्तीसगढ़ के जनता जनार्दन की दृष्टि से यह अत्यंत आवश्यक है विपक्ष के अधिका अधिक चर्चा में भाग ले.

साथ ही कृषक उन्नति योजना पर अधिक राशि लेने पर कहा कि 12000 करोड़ रुपए का प्रावधान इसमें किया गया है. मुख्य बजट 9 तारीख को आ जाएगा. इसके बाद अन्य योजनाओं में क्या अपेक्स में पूंजीगत पर है विभिन्न योजना है उसे पर समग्र आकलन आप कर सकते हैं. अभी तो वित्तीय औपचारिकता जो हमारे संवैधानिक कार्य है उसके लिए अनुपूरक के रूप में लाया गया. अप्रैल माह से मुख्य बजट में जो खर्च किए जाएंगे 9 तारीख को विस्तार से प्रस्तुत करेंगे.

छत्तीसगढ़ नेत्र चिकित्सालय के डॉ. अभिषेक मेहरा इटली के मिलान शहर में दि ओर्बिस इंटरनेशनल मेडल से सम्मानित