हिन्दू धर्म पर पोस्ट करना मौलाना को पड़ा महंगा,थाने के बहार हुई पिटाई

99

रायपुर. हिन्दू धर्म के खिलाफ आपत्तीजनक टिप्पणी करना एक मौलाना को भारी पड़ गया। जिसका नतीजा यह हुआ कि कई हिन्दू संगठन के लोगों ने थाने के पास ही मौलाना की इस हरकर पर उसकी लात घूसे से जमकर पिटाई कर दी है। भीड़ इतनी थी और मामला इतना गर्म की थाने के सामने पुलिस भी मूक दर्शक बनकर देखती रह गई। जिसके बाद भीड़ से एक शख्स उस मौलाना को थाने के भीतर लेकर गया। जहा पुलिस ने मौलाने के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए उसे जेल भेज दिया है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

यह पूरा मामला छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर जिले के तिल्दा-नेवरा थाना क्षेत्र अंतर्गत सिनोधा गांव का बाताया जा रहा है। जहां बीते दिनों मौलाना असगर रजा की भीड़‌ में पिटाई हो गई।‌ मौलाना पर हिन्दू धर्म के लोगों ने आरोप लगाए कि उसके द्वारा धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का वीडियो सोशल मीडिया में पोस्ट किया है।

कब हुआ था यह मामला

छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले के सिनोधा गांव में  23 जनवरी को एक नाबालिग के सोशल मीडिया अकाउंट से एक विवादित पोस्ट किया गया था। जिसका कुछ हिंदूवादी संगठनों ने विरोध किया। जिस मामले को लेकर मौलाना पर 24 जनवरी को भीड़ ने पुलिस से पहले खुद ही कार्रवाई करते हुए पिटाई कर दी। गांव में संचालित मदरसे के मौलाना असगर रजा इब्राहिम खान और मिर्जा ताहिर बेग को लेकर थाना पहुंच थे। जहां गुस्साई भीड़ ने उनकी पिटाई कर दी गई। मामले में अपत्तीजनक पोस्ट करने पर पुलिस ने तीन आरोपियों को जेल भेज‌ दिया है और एक नाबालिग को बाल सुधार गृह भेजा है। पुलिस ने कहा मौलाना असगर रजा के द्वारा फेसबुक पर आपत्तिजनक टिप्पणी की गई है। जिस पर लोगों का आक्रोश था और उसकी शिकायत उन्होंने थाने पर की है। जिस पर पुलिस ने युवक के खिलाफ कार्रवाई की है।‌

पत्नी और मां का आरोप

अमेज़न पर 200 करोड़ की पेनल्टी को बरकरार रखने के एनसीएलएटी के निर्णय पर कैट का प्रेस वक्तव्य

मौलाना की पत्नी ने आरोप लगाया‌ कि पुलिस के लोग देखते रहे। मेरे पति को पीटा‌ जी रहा था। कई संगठन के लोगों ने बिना बात के पीटा जिसनें मेरे पति का कोई हाथ नही है। वहीं आरोपी ताहिर बेग की मां ने कहा कि मेरे बेटे को वह लोग बुलाकर लेकर गए, इसलिए वह चला गया। इस पूरे मामले में पुलिस ने हमें कोई जानकारी नहीं दी है। हमारा बेटा कहां है इस बात की हमें जानकारी भी नहीं है।

शिकायतकर्ता ने कहा 

वहीं इस पूरे मामले में स्थानीय हिंदूवादी नेता और मामले में शिकायतकर्ता बृजलाल वर्मा ने कहा कि सोशल मीडिया पर व्हाट्सएप के जरिए हिंदुओं पर आपत्तिजनक पोस्ट वायरल भी किया था।  सभी हिंदू संगठन के लोगों को जब इस बात की जानकारी लगी तब थाने के पास इकट्ठा हुए। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि जब से मौलाना गांव में आया है उसके बाद से इस तरह की कई बार घटनाएं हो चुकी हैं।‌ गांव में कई दफा बैठकर समझाइश भी दी जा चुकी थी।