शिक्षा न केवल ज्ञान प्राप्त करने का साधन है, बल्कि यह छात्रों में देश भक्ति की भावना जगाने का भी एक महत्वपूर्ण माध्यम है: बृजमोहन अग्रवाल

84
रायपुर. बच्चे एक पौधे के समान होते हैं और शिक्षक माली। अगर माली सही देखभाल करेगा तभी पौधे पनपेंगे और एक फलदार वृक्ष का रूप ले सकेंगे। शिक्षा मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने पंडित शंकरानन्द झा मेमोरियल, न्यू मॉन्टेसरी इंग्लिश हाई स्कूल के 27वें वार्षिकोत्सव में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुईं। श्री अग्रवाल ने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस अवसर पर श्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि, शिक्षा के साथ ही स्कूल में बच्चों को सही दिशा निर्देश और देखभाल की जरूरत होती है। बच्चे अपना अधिकांश समय घर से दूर स्कूल में व्यतीत करते हैं। ऐसे में शिक्षकों की यह जिम्मेदारी है की विद्यार्थियों को स्कूल में एक अच्छा वातावरण उपलब्ध कराए उनसे मधुर संबंध बनाए। और उनकी छुपी प्रतिभा को सामने लाए। शिक्षा न केवल ज्ञान प्राप्त करने का साधन है, बल्कि यह छात्रों में देश भक्ति की भावना जगाने का भी एक महत्वपूर्ण माध्यम है। देश भक्ति का अर्थ है अपने देश से प्रेम करना, उसके प्रति समर्पित रहना और उसके विकास में योगदान देना। इस अवसर पर विद्यार्थियों ने देशभक्ति, लोक नृत्य समेत विभिन्न रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर वरिष्कोत्सव का माहौल खुशनुमा बना दिया और सभी के दिल जीत लिए। कार्यक्रम में स्कूल निदेशक श्री रविन्द्र झा, प्राचार्या डॉ बबीता झा, प्रशासनिक प्रमुख श्री ऋषि झा, शैक्षणिक प्रमुख श्रीमती विनिता अग्रवाल समेत विद्यार्थी उनके पालक और गणमान्य लोग उपस्थित रहे।
ट्रक के खलासी से लूट करने वाले 1 अपचारी बालक सहित 8 आरोपी गिरफ्तार